Special

कोरोना वायरस: जानिए इससे जुड़े 10 बड़े सच

कोरोना संक्रमण की दहशत पुरी दुनिया के साथ भारत में भी ऐसे फैल चुकी है. ऐसा माहौल बन गया है जैसे हर किसी को मानो सामने मौत खड़ी नजर आ रही है. सोशल मीडिया पर चल रहे भ्रामक प्रचार, गलत खबरों से ऐसा माहौल बन गया है जैसे हर आदमी की मौत निश्चित है. लेकिन यह सच नहीं है. इस वक्त देश की केन्द्र और राज्य सरकारें जो गाइडलान्स जारी कर रही हैं उन्हें यदि समय रहते, सतर्क रहते हुए ही फोलो कर लिया जाए तो आपको कोई खतरा नहीं. लेकिन भारतीय लोग अभी भी इसको हल्के में ले रहे हैं. खुद का और परिवार का बचाव करने के उपाय अपनाने के बजाए भारतीय बेवजह के जॉक्स और भ्रामक प्रचार में अपना समय जाया कर रहे हैं. Breaking News >> अमेरिकी सांसद ने चीन पर ठोका 200 खरब डॉलर का केस, COVID-19 जैविक हथियार बनाने का आरोप इस वक्त हमें दो बड़े सच जानना बेहद जरुरी है. पहला सच यह है कि जरुरी नहीं आप कोरोना संक्रमित के सम्पर...

चीन से करीब 7, 562 km दूर इटली को कैसे बना डाला कोरोना ने दुनिया की सबसे बड़ी कब्रगाह? पढें पूरी रिपोर्ट

रोम/नई दिल्ली. हम सब सोच रहे होंगे कि आखिर भारत में इतना डर कोरोना को लेकर क्यों बना हुआ है, कहीं धारा 144 लगाई जा रही है तो कहीं शॉपिंग मॉल, सिनेमाघर, रेस्त्रां बंद किए जा रहे हैं, और तो और अब जनता कर्फ्यू के हालात देखने को मिल रहे हैं. लेकिन इन सब के पीछे क्या आप जानते हैं क्या कारण है? इसके पीछे का एकमात्र कारण है इटली. इटली ने जो गलती की वो भारत या कोई भी समझदार देश नहीं करना चाहेगा. क्योंकि चीन से करीब 7, 562 किलोमीटर दूर होने के बावजूद इटली में कोरोना वायरस का ऐसा कहर देखने को मिला कि जिस देश में कोरोना का दूर दूर तक नाम नहीं था वो आज दुनिया की सबसे बडी कब्रगाह बन गया है. कोरोना के कहर से चीन में भले ही मौत का सिलसिला थम गया है लेकिन इटली में इस महामारी ने दुनिया की सबसे बड़ी कब्रगाह बना दी है. चीन में मरने वाले लोगों की संख्या को इटली ने पीछे छोड़ दिया है. चीन में जहां कोरोना...

7 साल 3 महीने और 3 दिन... निर्भया के दोषियों को लटकाया गया फांसी पर

-निर्भया केस के चारों आरोपियों को फांसी पर लटकाया गया -सुबह 5.30 बजे दी गई चारों दोषियों को फांसी -आधे घंटे बाद तक लटकाए रखा फांसी पर -जेलर के निर्देश पर जल्लाद पवन ने दी फांसी - मेडिकल अफसर ने चारों को मृत घोषित किया - फांसी से पहले SC और HC ने खारिज की थी याचिका - निर्भया के माता-पिता ने 20 मार्च, निर्भया दिवस के रूप में मनाने को कहा. नई दिल्ली. देश और दुनियाभर में मानवता को शर्मसार कर देने वाले निर्भया के केस के चारों गुनहगारों को आखिरकार 20 मार्च की सुबह साढ़े पांच बजे फांसी के तख्ते पर लटका दिया गया. 7 साल 3 महीने और 3 दिन बाद मिले इस इंसाफ को लेकर देशभर में जश्न भी देखने को मिला कहीं आतिशबाजी हुई तो कहीं मुंह मीठा कराकर देश की बेटी के गुनहगारों का फांसी मिलने पर खुशी जाहिर की गई. तिहाड़ जेल इस दौरान कई लोग मौजूद रहे जिन्होने इसे न्याय की जीत बताई. निर्भया ...

कोरोना से दूर रहना हो तो इन दस (TEN) कामों के दौरान जरुर धोएं हाथ!

नई दिल्ली (ऋचा शर्मा). वैसे तो हमें बचपन से ही स्कूल में हाथ धोने की आदतों को लेकर बहुत कुछ सिखाया जाता है. समझाया जाता है कि किन कामों को करते हुए हाथ धोना चाहिए. हाथ धोने की आदत हमें हमारे घर पर भी डालनी होती है. स्वस्थ रहने के लिए हाथ धोने का महत्व किसी से छुपा नहीं है. बावजूद इसके कई बार हम जल्दबाजी या यों कहें कि आलस के चलते हाथ धोने में लापरवाही करते हैं. और यही लापरवाही आज देश और दुनिया में जानलेवा साबित हो रही है. कोरोना जैसे गंभीर वायरस के संक्रमण का सबसे बड़ा कारण हाथ को साफ ना करना बना हुआ है. इसके लिए सैनिटाइजर या साबुन का इस्तेमाल किया जा सकता है. ध्यान रखा जाए कि हाथों में लेकर कम से कम 40 सेकंड तक हाथों को अच्छी तरह से रगड़ कर धोना जरुरी है. ऐसा करने पर ही बैक्टीरिया और गंदगी हाथों से निकल जाती है अन्यथा यह गंभीर बीमारी का कारण बन सकते हैँ. आपको यह भी बता दें कि WHO के ...

किसने और क्यों की कोरोना से US में 22 लाख और UK में 5 लाख मौत की भविष्यवाणी?

लंदन (सौम्यता मिश्रा). दुनिया भर में हाहाकार मचा देने वाले कोरोना वायरस को लेकर खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है. लोगों का सुख चैन इस कोरोना वायरस ने छीन लिया है. इस बीच अमेरिका और लंदन के लोगों के लिए एक और डरावनी खबर सामने आई है. हालांकि ब्रिटेन सरकार ने इस डरावनी खबर के बाद और सख्त एहतियातन कदम उठाने शुरू कर दिए हैं. और पूरे देश में अलर्ट मोड पर सरकार आ गई है. बड़ी बात यह है यदि इंपीरियल कॉलेज लंदन में मैथामेटिकल बायोलोजी के प्रोफेसर और कोरोना पर स्टडी करने वाली टीम के प्रमुख नील फर्ग्यूसन की स्टडी पर नजर डालें तो उनका मानना है कि कोरोना वायरस का खतरा अभी टलने वाला नहीं है. इससे अमेरिका में 22 लाख और लंदन में कई 5 लाख लोगों की मौत हो सकती है. नील फर्ग्यूसन ने अपनी स्टडी के आधार पर ये आशंका जताते हुए भविष्यवाणी की है. उन्होंने इटली से कोरोना पीड़ितों और मरने वालों का ताजा आंकड़ा एकत्रित कि...

9 साल पहले आई फ़िल्म 'कंटेजियन', कोरोना जैसे वायरस की खौफनाक कहानी अब हो रही सच साबित

बीजिंग/ लंदन. बात करीब 40 साल पहले की है, जब 1981 में लिखी एक किताब में कोरोना वायरस जैसी महामारी के चीन में फैलने का जिक्र किया गया था. यानी कोरोना वायरस की भविष्यवाणी करीब 40 साल पहले ही एक किताब में कर दी गई थी और किताब का नाम था 'The Eyes of Darkness'. अमरीकी उपन्यासकार डीन कोन्ट्ज की लिखी यह पुस्तक अचानक जहां रातों रात चर्चा में आ गई वहीं अब एक फिल्म फिर से सोशल मीडिया पर ट्रेंड करने लगी है. 2011 में आई स्टीवन सोडरबर्ग की फिल्म 'कंटेजियन' की चर्चा रिलीज हुई थी तब उतनी नहीं थी जितनी आज हो रही है. चर्चा भी इतनी की सोशल मीडिया पर जबरदस्त ट्रेंड हो रही है. इस फिल्म में ग्वेनिथ पल्ट्रो, मारिऑन कोटिलार्ड, ब्रेयान क्रेन्सटन, मैट डेमन, लॉरेन्स फिशबर्न, जूड लॉ, केट विंसलेट और जेनिफर जैसे एक्टर्स ने बेहतरीन एक्टिंग की है. यह अमेरिकी फिल्म 2003 में फैले सार्स और 2009 में फैले ...

निर्भया के दोषियों की फांसी तीसरी बार फिर टली

नई दिल्ली. निर्भया केस के दोषियों के सारे विकल्प समाप्त हो चुके थे. लाइफ लाइन से जुड़े हर विकल्प को आजमाए जाने के बावजूद अब कोई रास्ता बचने का नजर नहीं आ रहा था. राष्ट्रपति की ओर से दया याचिका खारिज होने के बाद अब तीन मार्च को दोषियों को होने वाली फांसी का रास्ता लगभग साफ हो चुका था. लेकिन पटियाला हाउस कोर्ट ने एक बार फिर निर्भया के दोषियों की फांसी टाल दी है. मौत की पहली तारीख 22 जनवरी 2020 थी, जो बाद में टाल दी गई थी. अगली तारीख 1 फरवरी 2020को तय की गई लेकिन फिर टल गई और इसके बाद एक बार फिर 3 मार्च 2020 को सुबह 6 बजे फांसी की सजा मुकर्रर की गई थी.लेकिन अब फिर फांसी टाल दी गई. गौर करने वाली बात यह है कि भारत में आखिरी फांसी जुलाई 2015 में याकूब मेमन को दी गई थी. याकूब मेमन 1993 के मुंबई धमाकों का दोषी था. यदि बलात्कार के मामले में दी गई आखिरी फांसी की बात करें तो धनंजय चटर्जी को ...

यह हैं दुनिया के 10 (TEN) सबसे बडे पैसेंजर एयर क्राफ्ट

सिंगापुर/ बेंगलुरु. स्ट्रैटोलॉन्च क्या आपने यह नाम सुना है? नहीं तो हम आपको बता दें यह है दुनिया का सबसे बड़ा विमान जिसने सबसे पहली उड़ान 2019 में कैलिफोर्निया में भरी थी. करीब ढाई घंटे तक मोजावे रेगिस्तान के ऊपर इसका सफल परीक्षण हुआ. यह इतना बडा है कि इसको उडाने के लिए बोइंग-747 के छह इंजन का इस्तेमाल किया जाता है. विमान के पंख का फैलाव एक फुटबॉल मैदान से भी ज्यादा है. इस विमान का निर्माण सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर निर्माता कंपनियों में से एक माइक्रोसॉफ्ट के सह-संस्थापक पॉल एलन के विजन पर हुआ, और 2011 में इसका निर्माण शुरु हुआ. स्ट्रेटोलॉन्च ने डैनों की चौड़ाई को आधार बनाकर इसे दुनिया का सबसे बड़ा विमान बताया. 385 फीट लंबे इस विमान के पंख किसी फुटबॉल मैदान के जितने बड़े हैं, तो 17 हजार फीट की ऊंचाई तक यह विमान उडान भरने में सक्षम है. इस विमान के निर्माण का मकसद सैटेलाइट के लॉन्च पैड के रूप में क...

ट्रंप ने कह दी वह 10 बातें, जिससे भारत-अमेरिका की दोस्ती से दुश्मन देश डरे

अहमदाबाद(भारत). अमेरिका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप और उनकी पत्नी मोलनिया ट्रंप का पीएम मोदी ने अहमदाबाद एयरपोर्ट पहुंचकर जोरदार स्वागत किया. गुजरात के लोगों और देशभर से आए भारतीय कलाकारों ने ट्रंप के स्वागत को भव्य बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी. मोदी और ट्रंप ने साबरमती आश्रम तक 22 किलोमीटर लंबा रोड शो किया. ट्रंप ने अपनी पत्नी के साथ साबरमती आश्रम में महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित की और चरखा भी चलाया. 'मुझे खुशी है कि ट्रंप की लीडरशिप में भारत और अमेरिका के रिश्ते और गहरे हुए हैं. यह एक नया अध्याय है. ट्रंप बहुत बड़ा सोचते हैं और अमेरिकन ड्रीम को साकार करने के लिए उन्होंने जो किया वह पूरी दुनिया जानती है. हम पूरे परिवार का तहे दिल से स्वागत करते हैं. ट्रंप ने यहां आकर भारत का गौरव बढ़ाया है. संबंध का सबसे बड़ा आधार विश्वास होता है. मैंने इस विश्वास को मजबूत होते देखा है.&...

जयपुर के इन सोने-चांदी के सैट्स में राष्ट्रपति ट्रंप करेंगे लंच-डिनर, देखें 10 बेहद खास तस्वीरें

जयपुर (राजस्थान). डोनाल्ड ट्रम्प के भारत में दौरे को लेकर अमेरिका और भारत दोनों ही देशों के लिए उत्साहित हैं, हर कोई इस दौरे से जुड़ी रोचक और महत्वपूर्ण बातों को जानना चाहता है. ऐसी ही एक जिज्ञासा है कि आखिर डोनाल्ड ट्रम्प का खाना कितना शाही होगा और किस तरह के कटलरी और टेबल वेयर का इस्तेमाल किया जाएगा. तो आइए आपको बता देते हैं वो दस (TEN) खास तस्वीरें जो आपको बताएंगी कि आखिर कैसे शाही कटलरी और टेबल वेयर का इस्तेमाल लंच और डिनर में किया जाएगा. उधर राजस्थान प्रदेश के लिए सबसे बड़े गर्व की बात यह है कि कटलरी और टेबल वेयर का निर्माण राजस्थान के जयपुर से संचालित अरुण ग्रुप ने किया है. हीरे-जवाहरात के साथ बेहतरीन कलाकृतियों की कारीगरी से दुनियाभर में अपनी विशेष पहचान रखने वाला राजस्थान अब ट्रंप की यात्रा में भी अपनी अहम भूमिका निभाएगा. अमेरिकी राष्ट्रपति की भारत यात्रा के दौरान लंच और डिनर के लि...