Politics

राजस्थान सरकार पर अपने ही विधायक ने लगाए फोन टैपिंग के आरोप, BJP बोली- कांग्रेस अपने ही विधायकों को डरा रही

जयपुर। राजस्थान में पहले ही जहां फोन टैपिंग को लेकर बड़ा सियासी बवाल 1 साल पहले हो चुका है। वहीं एक बार फिर फोन टैपिंग के आरोपों का दौर शुरू हो गया है। राजस्थान में उनकी सरकार के चाकसू से कांग्रेस विधायक वेद प्रकाश सोलंकी ने फोन टैपिंग के आरोप लगाए हैं। सचिन पायलट एक ओर जहां लगातार विभिन्न मंचों पर अपनी नाराजगी जाहिर कर रहे हैं वहीं उनके खेमे से ताल्लुक रखने वाले विधायक वेद प्रकाश सोलंकी ने एक बार फिर गहलोत सरकार पर फोन टैपिंग के आरोप लगाए हैं। साथ ही उन्होंने विधायकों की सिफारिश पर लगे अधिकारी और कर्मचारियों पर एसीबी ट्रैप की कार्रवाई की धमकी देने के भी आरोप लगाए। सोलंकी ने कहा कि मुझे नहीं पता कि मेरा फ़ोन टैप हो रहा है या नहीं लेकिन हमारे दो तीन विधायकों ने मुझसे कहा है कि उनके फोन टैप हो रहे हैं। उनकी जासूसी कराई जा रही है। हमारे विधायकों की सिफारिश पर लगे अधिकारी और कर्मचारी...

जयपुर ग्रेटर नगर निगम महापौर सौम्या गुर्जर को राज्य सरकार ने किया निलंबित, IAS से अभद्रता पड़ी भारी, सहयोगी पार्षद भी निलंबित

जयपुर। जयपुर ग्रेटर नगर निगम के महापौर सौम्या गुर्जर को उनके महापौर पद से तुरंत निलंबित कर दिया गया है। राजस्थान सरकार ने इस संबंध में आदेश जारी किए हैं।आईएएस और जयपुर ग्रेटर नगर निगम के आयुक्त यज्ञ मित्र देव सिंह से हाल ही में हुई मारपीट के मामले में यह कार्रवाई की गई है। राज्य सरकार ने इस पूरे प्रकरण को गंभीरता से लिया था। इतना ही नहीं महापौर के साथ इस घटनाक्रम में शामिल अन्य पार्षदों को भी उनके पद से निलंबित कर दिया गया है। और इस पूरे मामले की जांच रिपोर्ट जल्द पेश करने के आदेश दिए गए हैं। यह भी पढें: राजस्थान में अफसरों और नेताओं में नहीं बैठ रही पटरी, पढें कौन से 8 SP और 6 कलेक्टर निशाने पर, और किसके साथ मारपीट की आई नौबत स्वायत्त शासन विभाग ने मेयर सोम्या गुर्जर के साथ चेयरमैन पारस जैन, पार्षद अजय सिंह चौहान, शंकर शर्मा को भी पार्षद पद से किया निलम्बित कर दिया है। स्वायत्त शासन...

राजस्थान में अफसरों और नेताओं में नहीं बैठ रही पटरी, पढें कौन से 8 SP और 6 कलेक्टर निशाने पर, और किसके साथ मारपीट की आई नौबत

जयपुर. राजस्थान में अफसरों और नेताओं के बीच की खींचतान जगजाहिर होती जा रही है. आलम यह है कि जनप्रतिधि चाहते हैं कि अफसर उनकी अनदेखी ना करें तो अफसर चाहते हैं उनको भी पूरा सम्मान मिले. अब इसी कशमकश में हालात ऐसे हो चले हैं कि राजस्थान के आठ एसपी और छह  कलेक्टर जनप्रतिनिधियों के निशाने पर आ गए हैं. नेशनल दुनिया की ​एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक यह सब इसलिए हो रहा है कि एक तरफ जहां जनप्रतिनिधियों को दरकिनार कर जिलों के कलेक्टर-एसपी अपनी मनमर्जियां कर रहे हैं तो कोई राजधानी तक अपनी पहुंच तो कोई अफसरी की धौंस में स्थानीय नेताओं को तवज्जो नहीं दे रहे. यह सब उस वक्त हो रहा है जब कोरोना संकटकाल में सबको मिलकर एकजुटता के साथ काम करना है, पर ऐसा होता नजर नहीं आ रहा. ऐसे में अब जनप्रतिनिधि खुलकर विरोध में सामने आ गए हैं. कहीं जन प्रतिनिधि उनके खिलाफ आवाज बुलंद कर रहे हैं तो कभी सोशल मीडिय...

3 पार्षदों ने निगम आयुक्त IAS यज्ञ मित्र देव सिंह से की मारपीट! महापौर ने कहा- मेरी शह पर नहीं हुआ, खुद ही सस्ती लोकप्रियता चाहते हैं

जयपुर। ग्रेटर नगर निगम जयपुर में राजनेता वर्सेस अधिकारियों की लड़ाई अब मारपीट तक पहुंच गई है। जयपुर ग्रेटर नगर निगम के आयुक्त आईएएस यज्ञ मित्र देव सिंह ने आरोप लगाया कि महापौर सौम्या गुर्जर के रूम में उनके कमरे का दरवाजा बंद कर तीन पार्षदों ने उनके साथ मारपीट की। बीवीजी से जुड़े मुद्दे पर यह संग्राम हुआ जहां आयुक्त और भाजपा पार्षदों आमने—सामने सामने हो गए। आयुक्त यज्ञमित्र सिंह ने भाजपा पार्षदों पर मारपीट का आरोप लगाया। वहीं महापौर डॉ. सौम्या ने इसे सस्ती लोकप्रियता हासिल करने का जरिया बताया। साथ ही कहा कि आयुक्त की बीवीजी कंपनी से सांठगांठ है। शहर में डोर टू डोर कचरा संग्रहण कर रही BVG कंपनी भुगतान नही होने से कंपनी ने दो दिन से काम बंद कर रखा है। इसे लेकर महापौर ने सभी उपायुक्तों की बैठक बुलाई थी। ताकि सफाई को लेकर कोई वैकल्पिक व्यवस्था की जा सके। इस दौरान आयुक्त यज्ञमित्र सिं...

पिता विश्वेन्द्र सिंह के खिलाफ बगावत करने वाले अनिरुद्ध सिंह बोले, पिछले 15 सालों से पिता से 1 रुपया नहीं लिया, सचिन पायलट कहेंगे तो गर्दन भी कटवा लूंगा

भरतपुर/जयपुर। भरतपुर राज परिवार में पूर्व मंत्री, वर्तमान विधायक और राज परिवार के सदस्य विश्वेंद्र सिंह के बेटे अनिरुद्ध सिंह ने भले ही अपने पिता के खिलाफ 31 मई को किए गए ट्वीट को हटा लिया हो लेकिन उनके इस ट्वीट के बाद में राजस्थान की सियासत में एक नई राजनीतिक कहानी तैयार होती नजर आ रही है। बताया जा रहा है कि 31 मई को विश्वेंद्र सिंह के बेटे अनिरुद्ध सिंह ने जो ट्वीट किया था उसे महज 4 घंटे बाद डिलीट कर देने का बड़ा कारण सचिन पायलट रहे। उन्होंने सचिन पायलट के समझाने के बाद में तुरंत अपनी गलती को स्वीकारते हुए उस ट्वीट को हटाया। जिसमें अपने पिता विश्वेन्द्र सिंह के खिलाफ बयान बाजी की थी। इस बात को बल एक ट्वीट के जरिए मिला। दरअसल टोंक से पायलट समर्थक युवा नेता देवराज डॉई ने ट्वीट कर लिखा कि अच्छे इंसान से संगत का असर, सचिन पायलट ने भरतपुर राजघराने में सुलह करवाई। पायलट साहब के एक कॉल पर...

पूर्व मंत्री विश्वेन्द्र सिंह के खिलाफ उनके ही बेटे ने खोला मोर्चा, राजस्थान की सियासत में नया भूचाल

भरतपुर। राजस्थान की राजनीति में ट्वीट ने फिर भूचाल ला दिया है। यह भूचाल इसलिए भी है क्योंकि कद्दावर नेता और राजस्थान सरकार के पूर्व मंत्री है विश्वेंद्र सिंह के बेटे अनिरुद्ध सिंह ने यह ट्वीट किया है। कुछ दिनों पहले राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के खिलाफ बगावत करके चर्चा में आए विश्वेन्द्र सिंह इस ट्वीट के बाद एक बार फिर चर्चा में आ गए हैं। ट्वीट को देखने के बाद राजनीतिक गलियारों में यह चर्चा है कि विश्वेन्द्र के यहां सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है, हालांकि यह उनका व्यक्तिगत विवाद है। पर जिस तरह से इस विवाद को ट्विटर के जरिए सार्वजनिक किया गया है उसे कुछ लोग ठीक भी नहीं मान रहे हैं। इससे बैठे बिठाए उनके राजनीतिक विरोधियों को बोलने का एक मौका मिल गया है। यह भी पढें: पिछले 15 सालों से पिता से 1 रुपया नहीं लिया, सचिन पायलट कहेंगे तो गर्दन भी कटवा लूंगा: अनिरुद्ध सिंह सचिन पायलट के...

पूर्व राज्यपाल, राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री वरिष्ठ कांग्रेस नेता जगन्नाथ पहाड़िया का कोरोना से निधन

जयपुर। पूर्व राज्यपाल, राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता जगन्नाथ पहाड़िया का कोरोना से निधन हो गया। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने उनके निधन पर शोक जताया और कहा कि 'प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री श्री जगन्नाथ पहाड़िया जी के निधन की खबर बेहद दुखद है। श्री पहाड़िया ने मुख्यमंत्री के रूप में, राज्यपाल के रूप में, केंद्रीय मंत्री के रूप में लम्बे समय तक देश की सेवा की, वे देश के वरिष्ठ नेताओं में से थे। श्री पहाड़िया हमारे बीच से कोविड की वजह से चले गए, उनके निधन से मुझे बेहद आघात पहुंचा है। प्रारम्भ से ही उनका मेरे प्रति बहुत स्नेह था, उनके जाने से मुझे व्यक्तिगत क्षति हुई है। ईश्वर से प्रार्थना है शोकाकुल परिजनों को इस कठिन समय में सम्बल दें एवं दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करें।'   उधर राजस्थान सरकार ने फैसला किया है कि 20 मई, गुरूवार को जगन्नाथ पहा...

कोरोना संक्रमण से राजस्थान के भाजपा विधायक गौतम लाल मीणा का निधन

प्रतापगढ़। कोरोना संक्रमण से राजस्थान के प्रतापगढ़ ज़िले के धरियावद विधानसभा क्षेत्र से भाजपा विधायक गौतम लाल मीणा का निधन हो गया है। CM अशोक गहलोत, पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, नेता प्रतिपक्ष नेता गुलाब चंद कटारिया, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया सहित कई नेताओं ने निधन पर शोक व्यक्त किया। मीणा का पिछले कुछ दिनों से उदयपुर के एमडी चिकित्सालय के सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक में उपचार चल रहा था। तीन दिन पहले उनके स्वास्थ्य में अचानक ज़्यादा गिरावट हुई जिससे उन्हें वेंटिलेटर पर रखकर उपचार किया जा रहा था। बता दें कि गौतम लाल मीणा प्रदेश के चौथे विधायक हैं जिनका निधन कोरोना संक्रमण के कारण हुआ है।...

पूर्व मंत्री और राजस्थान के गुड़ामलानी से विधायक हेमाराम चौधरी ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दिया

जयपुर। पूर्व मंत्री और राजस्थान के गुड़ामलानी से विधायक हेमाराम चौधरी ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। वो पायलट गुट के विधायक माने जाते हैं। हेमाराम चौधरी लगातार मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सरकार से भी नाराज चल रहे थे। सरकार को अस्थिर करते वक्त पिछले साल वो पायलट गुट के साथ लगातार विरोध में खड़े हुए थे। हेमाराम चौधरी ने  विधानसभा अध्यक्ष को अपना इस्तीफा भेज दिया है। ...

Narada case: CBI ने पश्चिम बंगाल के मंत्री फिरहाद हाकिम, सुब्रत मुखर्जी, MLA मदन मित्रा को किया अरेस्ट, ममता बनर्जी भी पहुंची CBI दफ्तर

कोलकाता. विधानसभा चुनाव के बाद में एक बार फिर पश्चिम बंगाल में सियासी घमासान तेज हो गया है । एक बार फिर से केंद्रीय एजेंसियां एक्टिव हो गई हैं। नारदा घोटाले की जांच कर रही सीबीआई ने पश्चिम बंगाल की टीएमसी सरकार के मंत्री फिरहाद हाकिम, सुब्रत मुखर्जी और विधायक मदन मित्रा को गिरफ्तार कर लिया है। इनके साथ ही पूर्व मेयर सोवन चटर्जी को भी पूछताछ के लिए लाया गया। उधर सीएम ममता बनर्जी भी सीबीआई दफ्तर पहुंच गईं। मुख्य सूचना अधिकारी आरसी जोशी ने बताया कि सीबीआई ने नारदा स्टिंग ऑपरेशन से संबंधित मामले में पश्चिम बंगाल सरकार के 4 तत्कालीन मंत्रियों (फिरहाद हकीम, सुब्रत मुखर्जी, मदन मित्रा और सोवन चटर्जी) को गिरफ्तार किया। सीबीआई ने कलकत्ता हाईकोर्ट के आदेश के बाद इस मामले में 16 अप्रैल 2017 को केस दर्ज किया था। इनमें फिरहाद और मुखर्जी इस समय भी मंत्री हैं। इससे पहले कोयला चोरी माम...