World

यूरोप में कोरोना के कहर से WHO भी घबराया, बोला- कुछ ही महीनों में हो सकती हैं 7 लाख मौतें

लगभग दो वर्ष की पाबंदियों के बावजूद कोरोना संक्रमण की रफ्तार यूरोप में तेजी से बढ़ने लगी है। लाख प्रयासों के बावजूद यूरोप में कोरोना कहर बरपा रहा है। यह कोविड-19 महामारी का वैश्विक केंद्र बना हुआ है। हर कोशिश के बावजूद कई देशों में रिकॉर्ड स्तर पर मामले बढ़ते ही जा रहे हैं। लगभग दो वर्ष की पाबंदियों के बावजूद संक्रमण की रफ्तार तेजी से बढ़ रही है। ऐसे में डब्ल्यूएचओ ने चेतावनी जारी की है कि अगर इसी तेजी से मामले बढ़ते रहे तो यूरोप में कोविड-19 के चलते 7 लाख मौतें और हो सकती हैं। डब्ल्यूएचओ ने चेतावनी जारी की है कि अगर इसी तेजी से मामले बढ़ते रहे तो यूरोप में कोविड-19 के चलते यह मोतें हो सकती हैं. डब्ल्यूएचओ के यूरोप ऑफिस ने कहा है कि पूर्वानुमानों के मुताबिक महाद्वीप के 53 देशों में आने वाले महीनों में कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) से सात लाख और लोगों की मौत हो सकती है, जिसस...

शी जिनपिंग बनेंगे तीसरी बार चीन के राष्‍ट्रपति, ऐतिहासिक प्रस्ताव पारित 

बीजिंग. चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की अहम बैठक में एक ऐतिहासिक प्रस्ताव पारित कर दिया गया है. जिसके बाद शी जिनपिंग की ताकत और बढ़ गई है. पार्टी की 19वीं केंद्रीय समिति का छठा पूर्ण अधिवेशन 8 से 11 नवंबर को बीजिंग में आयोजित हुआ और इसके बाद गुरुवार को जारी विज्ञप्ति में यह जानकारी दी गई. चीनी कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीसी) की उच्च स्तरीय बैठक में पार्टी के गत 100 साल की अहम उपलब्धियों को लेकर ‘ ऐतिहासिक प्रस्ताव’ पारित होने के साथ ही एक बार फिर शी जिनपिंग के लिए तीसरे कार्यकाल का रास्ता सााफ हो गया है.  बता दें कि सीपीसी के 100 साल के इतिहास में यह इस तरह का मात्र तीसरा प्रस्ताव है. 68 वर्षीय शी का चीन की सत्ता के तीनों केंद्रों - सीपीसी के महासचिव, शक्तिशाली केंद्रीय सैन्य आयोग (सीएमसी) के अध्यक्ष होने के साथ राष्ट्रपति पद पर काबिज हैं. वह अगले साल अपना पांच साल का दूसरा कार्यक...

अफ्रीकी देश सिएरा लियोन में तेल टैंकर में भीषण विस्फोट से 92 लोगों की मौत 

Blast in Sierra Leone, Africa: अफ्रीकी देश सिएरा लियोन में एक बड़े हादसे में तेल टैंकर में भीषण विस्फोट होने से 92 लोगों की मौत हो गई. बड़ी संख्या में लोग घायल हो गए.  देश की राजधानी फ्रीटाउन (Freetown) में यह हादसा उस वक्त हुआ जब 40 फीट लंबा तेल टैंकर किसी दूसरे वाहन से टकरा गया और उसमें भीषण विस्फोट हुआ. जिसके बाद पूरे इलाके में तबाही का मंजर छा गया. टैंकर के आसपास लोगों के शव बिखर गए. मौत का आधिकारिक आंकड़ा जारी करते हुए एक अधिकारी ने 92 लोगों की मौत की खबर दी है. वहीं घटना की सूचना मिलते ही दमकलकर्मी मौके पर पहुंच गए. राहत एवं बचाव कार्य शुरू हो गया है. घायल हुए लोगों को अस्पताल पहुंचाया गया.   ...

मैसेजिंग एप्प WhatsApp, Instagram और Facebook सहित कई एप्प ठप

नई दिल्ली| मैसेजिंग एप्प व्हाट्सएप्प (WhatsApp), इंस्टाग्राम (Instagram) और फेसबुक (Facebook) ने सोमवार शाम को अचानक काम करना बंद कर दिया. रात 9:07PM के बाद न तो व्हाट्सएप्प पर कोई मैसेज भेज पा रहा था, न ही रिसीव कर पा रहा था. इसके साथ ही फेसबुक और इंस्टाग्राम ने भी काम करना बंद कर दिया. हालांकि, इस दौरान ट्विटर (Twitter) सामान्य रूप से चल रहा था.   बता दें कि फेसबुक, इंस्टाग्राम और वॉट्सऐप प्लेटफॉर्म करीब 6 घंटे तक पूरी दुनिया में बंद रहे, जिसके चलते अरबों यूजर्स को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। इसके बाद लोगों ने तुरंत ट्विटर पर प्रतिक्रियाएं देनी शुरू कर दीं। इस आउटेज का असर अमेरिकी बाजार में फेसबुक के शेयरों पर भी दिखा और कंपनी के शेयर 6% तक गिर गए। बता दें दुनियाभर में फेसबुक के 2.85 अरब मंथली एक्टिव यूजर हैं। वहीं वॉट्सऐप के 2 अरब और इंस्टाग्राम के 1.38 अरब यूजर हैं। ऐसे में इन...

काबुल एयरपोर्ट के बाहर आत्मघाती धमाके, 13 की मौत, कई घायल, ISIS पर शक

काबुल. अफगानिस्तान में लगातार हालात बिगड़ते जा रहे हैं. आतंकी हमलों के अलर्ट के बीच काबुल एयरपोर्ट के बाहर दो बड़े धमाके हुए जिसमें बताया जा रहा है कि कम से कम 13 लोगों की मौत हो गई. ब्लास्ट बैरन होटल के नजदीक एब्बी गेट पर हुआ, वहीं दूसरा ब्लास्ट भीड़भाड़ वाले मेन गेट पर हुआ. अमेरिकी अधिकारियों के मुताबिक विस्फोट का कारण आत्मघाती हमला है. अमेरिकी रक्षा मंत्रालय पेंटागन ने भी ब्लास्ट की पुष्टि की है. तुर्की के रक्षा मंत्रालय के मुताबिक उसके सैनिकों ने दो बड़े धमाकों की आवाज सुनी. चश्मदीद का दावा है कि इसमें कई लोग मारे गए हैं. ब्लास्ट उस भीड़भाड़ वाली जगह पर हुआ जहां लोग एयरपोर्ट में घुसने के लिए इंतजार कर रहे थे. कई लोग जख्मी हो गए. अंग क्षत-विक्षत हो गए. घटना के वक्त एयरपोर्ट के बाहर हजारों की संख्या में अफगान नागरिक मौजूद थे.  इस हमले के पीछे आईएसआईएस पर शक है. तालिबान के...

भारत तालिबान पर 26 अगस्त को ले सकता है बड़ा फैसला, तालिबान ने 31 अगस्त तक अमेरिकी सैनिकों द्वारा देश ना छोड़ने पर दी धमकी

काबुल. तालिबान ने एक बार फिर महाशक्ति अमेरिका को आंख दिखाई है. वैसे तो अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों की वापसी का अभियान 31 अगस्त तक पूरा हो जाएगा. लेकिन तालिबानियों ने अपने को ताकतवर साबित करने की दिशा में अमेरिका को खुली धमकी दी है. तालिबान ने कहा है कि अगर 31 अगस्त तक सैनिकों की वापसी का काम पूरा नहीं हुआ तो अमेरिका को गंभीर परिणाम भुगतने होंगे. बता दें कि अमेरिका राष्ट्रपति ने पहले सैनिकों की वापसी के लिए 11 सितंबर की तारीख तय की थी जिसे बाद में 31 अगस्त कर दिया गया था. धमकी देते हुए तालिबान के प्रवक्ता सुहैल शाहीन ने साफ कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति साफ कर चुके हैं कि सैनिकों की वापसी का काम 31 अगस्त तक पूरा हो जाएगा. ऐसे में उन्हे अपनी बात पर कायम रहना चाहिए. तालिबान ने धमकी दी है कि वह 31 अगस्त के बाद अमेरिका को एक भी दिन का समय नहीं देगा. अगर सैनिकों की वापसी के लिए उससे आगे का समय...

तालिबान के खिलाफ अजमेर दरगाह दीवान, बोले- इस्लाम को बदनाम कर रहा तालिबान

अजमेर। तालिबान के खिलाफ अजमेर दरगाह दीवान सैयद जैनुल आबेदीन ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि तालिबान शरीयत के नाम पर आतंक कर इस्लाम को बदनाम कर रहा है। तालिबान की आतंकी और तानाशाही हरकतों से दुनिया में इस्लाम के प्रति दुर्भावना फैलाई जा रही है। पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान क्रूर तालिबान शासकों के हाथ आ गया है। इसके साथ ही इस देश में भारी तबाही, औरतों पर बंदिशें और मामूली अपराधियों को अंग-भंग कर देने का शासन शुरू हो गया। शरीयत के कानून के नाम पर यह सब करना इस्लाम में अपराध है। इसका समर्थन नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि हमारे पड़ोसी देश अफगानिस्तान में क्या चल रहा है, यह हम सभी के लिए एक सबक है। हमें राष्ट्र हित को हमेशा ऊपर रखना चाहिए। हमारा पहला कर्तव्य हमारे देश को बचाना, देश में एकता और अमन कायम रखना होना चाहिए। बाद में हमें अपने बारे में सोचना चाहिए।...

तालिबान के खिलाफ भारत की सड़कों पर भी दिखने लगा आक्रोश, जयपुर में किया गया प्रदर्शन

जयपुर। तालिबान के खिलाफ पूरी दुनिया में नाराजगी देखने को मिल रही है। अब भारत में भी तालिबान के खिलाफ विरोध के स्वर मुखर होने लगे हैं। इसी कड़ी में राजस्थान की राजधानी जयपुर में डीएम ऑफिस के बाहर जन समस्या निवारण मंच के कार्यकर्ताओं ने तालिबान के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। साथ ही इस पूरे मामले में अमेरिका के सुस्त और लापरवाहपूर्ण रवैये को लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन की निंदा भी की गई। तालिबान द्वारा महिलाओं और बच्चों पर हो रहे जुल्मों के खिलाफ कलेक्ट्रेट के बाहर काली पट्टियां बांधकर विरोध जताया गया। जन समस्या निवारण मंच के अध्यक्ष सूरज सोनी ने कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन की बदली हुई नीतियों के कारण आज अफगानिस्तान की आम जनता नरक जैसी जिंदगी जीने को मजबूर है। इसी विषय पर ध्यान आकर्षित करने के लिए भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम जिला कलेक्ट्रेट में एडीएम शंकर लाल सैनी को म...

भगवान ही बचाए ऐसी नर्स से, 8 हजार 600 लोगों को गुमराह कर कोरोना की जगह लगा दी नमक के पानी की वैक्सीन

एक ओर जहां कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिए दुनिया भर में लंबी कतारें देखी जा रही है और लोग आंख बंद करके मेडिकल स्टाफ के भरोसे यह वैक्सीन लगवा रहे हैं वहीं दूसरी ओर जर्मनी में एक अजीब ही मामला सामने आया है. जहां कोरोना वैक्सीन के प्रति एक नर्स में इतनी नफरत थी कि उसने कोरोना वैक्सीन तो लगाई ही नहीं बल्कि उसकी जगह नमक के पानी की वैक्सीन लगा दी. यह कोई मजाक नहीं है बल्कि सच है. जर्मनी (Germany) के रेड क्रॉस अस्पताल (Red Cross Hospital) का यह मामला है. यहां एक नर्स लोगों की जिंदगी से खिलवाड़ करते हुए इस कारनामे को अंजाम दिया. इस नर्स को कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) से इतनी नफरत थी कि उसने करीब 8 हजार 6 सौ लोगों को वैक्सीन की जगह सलाइन सॉल्यूशन (Vaccine Solution) का इंजेक्शन लगा दिया. पर जैसे ही इसका खुलासा हुआ तो अस्पताल से इंजेक्शन लगवाने वाले लोगों के होश उड़ गए. उधर अस्पताल ने इस म...

सावधान इंडिया! कोरोना के डेल्टा वैरियंट ने उड़ाई चीन की नींद, 15 लाख की आबादी वाले शहरों में आवाजाही बंद, उड़ानें रद्द, लॉकडाउन के हालात

बिजिंग. कोरोना वायरस ने एक बार फिर चीन की नींद उड़ा दी है. जिस कोरोना को लेकर चीन निश्चिंत हो चुका था ​कि वो कोरोना से मुक्त हो चुका है वहां एक बार फिर हालात बिगड़ने शुरू हो गए हैं. कोरोना वायरस के डेल्टा वैरियंट ने अचानक ऐसा गदर मचाया है कि फिर से चीन में लॉकडाउन करना पड़ रहा है. कोरोना वायरस के अत्यधिक संक्रामक डेल्टा वैरियंट के मामले बढ़ने के कारण अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया के अलावा दुनिया के अन्य कई देशों में फिर से पाबंदियों को सख्त किया जा रहा है. चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने इस प्रकोप से निपटन के लिए तुरंत ठोस कदम उठाने के निर्देश दिए हैं. सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी चीन में फिर से लॉकडाउन की रणनीति को अपनाना शुरू कर चुकी है. इसी के तहत 15 लाख की आबादी वाले शहर में आवाजाही को पूरी तरह से बंद कर दिया गया है, केवल जरूरी सेवाएं ही चालू रखी गई हैं. उड़ानों को रद्द कर दिया गया. व्यापक स्तर ...