India

कलेक्टर कार्यालय का कनिष्ठ सहायक एवं उसका दलाल 2 लाख की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार

हनुमानगढ़ में जिला कलेक्टर कार्यालय का कनिष्ठ सहायक एवं उसका दलाल (प्राइवेट व्यक्ति) 2 लाख रूपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया है। एसीबी मुख्यालय के निर्देश पर हनुमानगढ़ इकाई द्वारा कार्यवाही करते हुये सुभाष स्वामी कनिष्ठ सहायक, सहायता विभाग, कार्यालय जिला कलक्टर, हनुमानगढ़ एवं उसके दलाल जगरूप सिंह (प्राइवेट व्यक्ति) को परिवादी से 2 लाख रूपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के महानिदेशक भगवान लाल सोनी ने बताया कि एसीबी की हनुमानगढ़ इकाई को परिवादी द्वारा शिकायत दी गई कि उसके पिता की मृत्यु होने पर कोरोना वारियर को राज्य सरकार द्वारा देय 50 लाख रुपये की सहायता राशि की फाइल को प्रोसेस कर स्वीकृत करवाने की एवज में सुभाष स्वामी कनिष्ठ सहायक, सहायता विभाग, कार्यालय जिला कलक्टर, हनुमानगढ़ द्वारा कुल राशि के 5 प्रतिशत कमीशन के रूप में 2 लाख 50 हजार...

संत के आत्मदाह के बाद 4 दिन में ही अवैध खनन के खिलाफ 190 मामलों में FIR, 180 वाहन और मशीनरी जप्त

यपुर, 25 जुलाई। अवैध खनन, परिवहन और भण्डारण के विरुद्ध समूचे प्रदेश में कार्यवाही करते हुए पिछले चार दिनों में करीब 190 प्रकरण दर्ज करते हुए 180 वाहन-मशीनरी की जब्ती के साथ ही 50 लाख रुपए से अधिक का जुर्माना बसूला गया है। अतिरिक्त मुख्य सचिव, माइंस डॉ. सुबोध अग्रवाल ने बताया कि जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन और माइंस विभाग द्वारा समन्वय बनाते हुए समूचे प्रदेश में अवैध माइनिंग गतिविधियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने बताया कि माइंस विभाग के सभी अधिकारियोें को निर्देशित किया गया है कि वे स्थानीय स्तर पर समन्वय बनाते हुए अवैध खनन गतिविधियों के खिलाफ कार्रवाई में तेजी लाएं। प्रदेश में पिछले चार दिनों में लगभग 60 एफआईआर में दर्ज कराई जा चुकी है। उदयपुर में दो लोगों की गिरफ्तारी भी हुई है। डॉ. अग्रवाल ने बताया कि प्रदेश में सर्वाधिक 60 प्रकरण उदयपुर वृत में अतिरिक्त निदेशक श्री म...

'हरित राजस्थान-स्वस्थ राजस्थान’ की संकल्पना के तहत प्रदेशभर में 5 करोड़ पौधे होंगे तैयार

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने घर-घर औषधि योजना का विस्तार कर नए रूप में लागू करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है। इससे मुख्यमंत्री के ‘हरित राजस्थान-स्वस्थ राजस्थान’ की संकल्पना के तहत प्रदेशभर में सघन वृक्षारोपण अभियान चलाए जाएंगे। वृक्षारोपण कार्यक्रम में वर्ष 2022-23 के लिए 42 करोड़ रूपए की लागत से 5 करोड़ पौधे तैयार किए जाएंगे। इनमें से 3 करोड़ पौधे आमजन को मांग अनुसार उपलब्ध कराने का प्रावधान किया गया है। आमजन को पौधे सरकारी नर्सरियों से मिलेंगे तथा दूरी की समस्या होने पर अन्य स्थानों से भी वितरण किया जा सकेगा। प्रदेशवासियों को जनआधार कार्ड के आधार पर सरकार द्वारा निर्धारित दर पर पौधे वितरित किए जाएंगे। वहीं सामुदायिक स्तर पर वृक्षारोपण के लिए राज्य की 10 हजार ग्राम पंचायतों को गोचर/ओरण/चारागाह हेतु तैयार किए गए एक करोड़ पौधे उपलब्ध कराए जाएंगे। प्रत्येक ग्राम पंचायत क्षेत्...

राजस्थान के पहले और देश के तीसरे ‘‘महिला वित्तीय संस्थान’’ के लिए MoU

जयपुर। राजस्थान में प्रदेश का पहला और देश का तीसरा ‘‘महिला वित्तीय संस्थान’’ स्थापित करने के लिए सोमवार को ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री रमेश चन्द मीणा की उपस्थिति में राजस्थान ग्रामीण आजीविका विकास परिषद एवं स्त्रीनिधि तेलंगाना के मध्य एक महत्वपूर्ण एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत द्वारा वर्ष 2022-23 के बजट में महिलाओं द्वारा संचालित बैंक स्थापित किए जाने के सम्बन्ध में घोषणा की गई थी। राज्य में राजस्थान महिला निधि की स्थापना तेलंगाना राज्य में सफलता पूर्वक संचालित स्त्री निधि मॉडल की तर्ज पर की जा रही है। सोमवार को इंदिरागांधी पंचायती राज संस्थान में हुए एमओयू पर राजीविका की ओर से राज्य मिशन निदेशक मंजू राजपाल एवं तेलंगाना की ओर से स्त्रीनिधि के एमडी विद्यासागर रेड्डी ने हस्ताक्षर किए। इस अवसर पर ग्रामीण विकास मंत्र...

ई.आर.सी.पी. पर राजस्थान में हुई सर्वदलीय बैठक, सीएम ने कहा यह योजना राज्य के लिए महत्वपूर्ण

जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ERCP के मुद्दे पर सर्वदलीय बैठक बुलाई। मुख्यमंत्री निवास पर आयोजित इस बैठक में विभिन्न दलों के राजनेता शामिल हुए। मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना (ईआरसीपी) राज्य के 13 जिलों में पेयजल और सिंचाई के लिए पानी उपलब्धता सुनिश्चित कराने के लिए बेहद महत्वपूर्ण है। राज्य सरकार 13 जिलों में पानी पहुंचाने के लिए प्रतिबद्ध है। यह विषय राजनीति से परे है। सरकार इसमें किसी भी तरह से राजनीति नहीं कर रही है। इसीलिए राज्य हित में सभी दलों को मिलकर राष्ट्रीय परियोजना घोषित कराने के प्रयास करने चाहिए। इसमें राज्य सरकार द्वारा अपने सीमित संसाधनों से कार्य कराए जाते है तो अधिक समय लगेगा। इसमें केंद्र से राशि मिलेगी तभी यह समय से पूरी हो सकेगी और जनता को पानी मिलेगा। राज्य सरकार द्वारा केंद्र को 11 बार पत्र लिखकर राष्ट्रीय परियोजना घोषित कराने के ल...

नागपुर में 720 करोड़ रुपये की लागत से राष्ट्रीय राजमार्ग 547-ई के सावनेर-धापेवाड़ा-गोंडखेरी खंड का उद्घाटन किया

नागपुर। केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने नागपुर में 720 करोड़ रुपए की लागत वाले 28.88 किमी लंबे राष्ट्रीय राजमार्ग 547-ई के सावनेर-धापेवाड़ा-गौंडखैरी खंड का उद्घाटन किया। इस अवसर पर अपने संबोधन में गडकरी ने कहा कि ग्रीनफील्ड बाईपास, बड़े पुल, रेलवे फ्लाईओवर के साथ-साथ वाहनों के अंडरपास, ओवरपास, दोनों तरफ बस शेल्टर जैसी विभिन्न विशेषताओं से परिपूर्ण यह राजमार्ग खंड इस क्षेत्र में यातायात की समस्या को दूर करेगा और नागरिकों के लिए सुगम एवं सुरक्षित यातायात सुनिश्चित करने में महत्वपूर्ण साबित होगा। नितिन गडकरी ने कहा कि सावनेर-धापेवाड़ा-गौंदाखैरी खंड को चार लेन का बनाने से तीर्थयात्रियों को अदासा के प्रसिद्ध गणेश मंदिर और क्षेत्र के धापेवाड़ा में विट्ठल-रुक्मिणी मंदिर से बेहतर कनेक्टिविटी मिलेगी। उन्होंने कहा कि चंद्रभागा नदी पर नया 4 लेन का पुल धापेवाड़ा में ट्रैफि...

मजबूत और आत्मविश्वासी न्यू इंडिया बुरी नजर रखने वालों को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए पूरी तरह तैयार: रक्षा मंत्री

जम्मू। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने 24 जुलाई, 2022 को जम्मू में 'कारगिल विजय दिवस' के उपलक्ष्य में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि भारत एक मजबूत और आत्मविश्वासी राष्ट्र बन चुका है, जो अपने लोगों को बुरी नजर डालने की कोशिश करने वालों से बचाने के लिए पूरी तरह तैयार है। स्वतंत्रता सेनानियों और सशस्त्र बलों के जवानों, जिन्होंने स्वतंत्रता के बाद से राष्ट्र की सेवा में अपने प्राण न्यौछावर कर दिए,को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए राजनाथ सिंह ने कहा कि राष्ट्रीय गौरव की भावना उनके मूलभूत मूल्‍‍य थे, जिन्होंने भारत की एकता और अखंडता की रक्षा की। उन्होंने जोर देकर कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार का एकमात्र उद्देश्य राष्ट्र के हितों की रक्षा करना है और इसने एक आत्मनिर्भर रक्षा परितंत्र विकसित करने के लिए कई कदम उठाए हैं जो भविष्य के सभी प्रकार के युद्धों से लड...

अवैध खनन के मामले में संत के आत्मदाह की सीबीआई जांच हो: अरुण सिंह

राजस्थान BJP प्रभारी अरुण सिंह ने कहा कि ब्रज क्षेत्र के तीर्थ स्थल व पहाड़ों को बचाने के लिए भगवान श्रीकृष्ण की क्रीड़ास्थली, आदिबद्री और कनकांचल पहाड़ों को बचाने के लिए साधु-संतों को 551 दिन आंदोलन करना पड़ा। संतों को पूरा विश्वास हो गया था माफियाओं का पूरा जाल यहां पर है और प्रदेश सरकार का संरक्षण उनके ऊपर है, अवैध खनन चलता रहेगा। कनकांचल और आदिबद्री पर्वत बचेगा नहीं, इससे हैरान और परेशान होकर बाबा हरि बोल दास ने पिंडदान किया और दूसरे संत बाबा नारायण दास टावर पर चढ़े। रविवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए प्रभारी अरुण सिंह ने कहा कि संतों का मानना था कि सद्बुद्धि सरकार को आ जाए, लेकिन वह तो आनी नहीं थी। क्योंकि खान मंत्री प्रमोद भाया जैन और अधिकारी मिले हुए हैं। इन सबसे परेशान होकर संत विजय दास ने आत्मदाह किया। सरकार के लोग एक-एक व्यक्ति को डराने और धमकाने का काम कर रहे हैं। अरुण सिंह ने...

निजी मीडिया के बारे में गलत धारणा पैदा हो रही है, तो कामकाज के बारे में आत्मनिरीक्षण करने की जरूरत: सूचना एवं प्रसारण मंत्री

नई दिल्ली। केन्द्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा है कि जब लोग निष्पक्ष समाचार सुनना चाहते हैं, तो वे स्वाभाविक रूप से आकाशवाणी और दूरदर्शन की खबरें सुनते हैं।निजी मीडिया के बारे में गलत धारणा पैदा हो रही है, तो हमें अपने कामकाज के बारे में आत्मनिरीक्षण करने की जरूरत है। केंद्रीय मंत्री ठाकुर ने आकाशवाणी भवन में राष्ट्रीय प्रसारण दिवस समारोह का उद्घाटन किया और अपने संबोधन में यह बात कही।  उन्होने राष्ट्रीय प्रसारण दिवस उत्सव को रेखांकित किया, इन्हीं शब्दों के साथ ऑल इंडिया रेडियो की 1927 में शुरुआत हुई थी, जो अब तक एक लंबी और शानदार यात्रा रही है। उपस्थित जनसमुदाय को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि कुछ लोगों ने अनुमान लगाया था कि टेलीविजन और बाद में इंटरनेट के आने से रेडियो का अस्तित्व संकट में पड़ जाएगा, लेकिन रेडियो ने अपने दर्शकों की पहचा...

हे प्रभु! अवैध खनन के खिलाफ आत्मदाह करने वाले संत विजयदास का निधन

भरतपुर। डीग इलाके में अवैध खनन के खिलाफ आत्मदाह करने वाले संत विजयदास ने प्राण त्याग दिए हैं। दिल्ली में इलाज के दौरान निधन हो गया। वो 80 फ़ीसदी झुलस गए थे। जिन्हें गंभीर अवस्था में सरकार के निर्देश पर ग्रीन कॉरिडोर बनाकर दिल्ली के सफदरगंज स्थित अस्पताल में भर्ती कराया गया था। लेकिन बचाया नहीं जा सका। डॉक्टर ने बताया कि संत विजय दास का शुक्रवार रात 3:00 बजे के लगभग इलाज के दौरान निधन हो गया ।अब उनका शव भरतपुर के पसोपा स्थित आश्रम में रखा जाएगा।   बता दें कि भरतपुर में अवैध खनन को लेकर साधु-संत 550 दिन से विरोध जता रहे थे। 20 जुलाई को बड़ी संख्या में संत आंदोलन के लिए जुटे, इसी दौरान संत विजयदास ने खुद को आग लगा ली थी। बताते हैं कि वो संत बनने से पहले कपड़ा फैक्ट्री में काम करते थे। उनका नाम मधुसूदन शर्मा था और हरियाणा के रहने वाले थे। लेकिन एक हादसे में उनके बेटे-बहू को खो दे...