India

मनोचिकित्सक डॉ. धर्मेंद्र सिंह का पंजीयन निरस्त, पोर्टल पर किया हाईलाइट

जयपुर। राजस्थान मेडिकल काउंसिल की पीनल एवं एथिकल कमेटी ने मनोचिकित्सक डॉ. धर्मेंद्र सिंह का रजिस्ट्रेशन दो वर्ष के लिए निरस्त किया है। काउंसिल के रजिस्ट्रार डॉ. राजेश शर्मा ने बताया कि चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव शुभ्रा सिंह के निर्देशानुसार पंजीयन निरस्त करने के उपरांत डॉ. धर्मेंद्र सिंह का नाम जनहित में आरएमसी के पोर्टल पर लाल रंग के साथ हाईलाइट किया गया है। डॉ. धर्मेंद्र सिंह का पंजीयन 7 दिसंबर 2025 तक के लिए निरस्त किया गया है। नशीली दवाओं के मामले में यह कार्रवाई की गई है।...

लक्ष्मणगढ़ नागरिक परिषद द्वारा होली स्नेह मिलन समारोह हुआ धूमधाम से संपन्न

जयपुर। लक्ष्मणगढ़ नागरिक परिषद जयपुर द्वारा 6 अप्रैल को आयोजित होली स्नेह मिलन समारोह बनीपार्क धर्मार्थ संस्थान बनीपार्क, जयपुर में बड़े धूमधाम से संपन्न हुआ। कार्यक्रम की जानकारी देते हुए लक्ष्मणगढ़ नागरिक परिषद के अध्यक्ष यशपाल सारण ने बताया कि हर्षवर्धन सैनी एंड पार्टी के कलाकारों द्वारा राजस्थानी लोकगीतो के साथ कार्यक्रम की प्रस्तुति लक्ष्मणगढ़ प्रवासी भाइयों बहनों के सामने दी। सर्वप्रथम कार्यक्रम की शुरुआत विशिष्ट अतिथियों के स्वागत सत्कार के साथ की गई। यशपाल सारण, विष्णु भूत, अनिल सिंघल, रामप्रसाद सैनी दामोदर चिरानिया, बजरंग लाल बजाज, लक्ष्मी नारायण निराणिया, दीनदयाल अग्रवाल का स्वागत माला पहनाकर प्रेम तोदी, मुकेश जांगिड, सज्जन त्रिवेदी, रविंद्र जाखड़, बाबू लाल सैनी, हरदयाल सिंह ढाका, हेमंत जांगिड़ द्वारा किया गया।...

मानव अंग एवं उत्तक प्रत्यारोपण के लिए गठित राज्य स्तरीय समिति की एक साल से बैठक नहीं होने पर समिति अध्यक्ष डॉ. बगरहट्टा को कारण बताओ नोटिस जारी

जयपुर। राज्य सरकार ने प्रदेश में मानव अंग एवं उत्तक प्रत्यारोपण अधिनियम के तहत गठित सलाहकार सह राज्य स्तरीय प्राधिकरण समिति की पिछले एक वर्ष से बैठक आयोजित नहीं किए जाने पर समिति के अध्यक्ष सवाई मानसिंह मेडिकल कॉलेज के प्रधानाचार्य डॉ. राजीव बगरहट्टा को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। चिकित्सा शिक्षा विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव शुभ्रा सिंह ने बताया कि समिति को मानव अंग प्रत्यारोण के लिए अनापत्ति प्रमाण पत्र जारी करने के लिए समय-समय पर आवश्यक बैठकें आयोजित करनी थीं, लेकिन यह संज्ञान में आया है कि विगत एक वर्ष से नियामनुसार बैठकें आयोजित नहीं की गईं। बैठकें आयोजित नहीं करने के संबंध में समिति के अध्यक्ष डॉ. बगरहट्टा से 3 दिवस में स्पष्टीकरण मांगा गया है।   ...

हिंडौन में 6 निजी अस्पतालों का एक साथ निरीक्षण, गंभीर अनियमितता पर एक अस्पताल सीज, एफआईआर दर्ज

एसीएस शुभ्रा सिंह के निर्देश पर राज्य स्तर से टीमें गठित कर की गई कार्रवाई      जयपुर। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने शुक्रवार को करौली जिले के हिण्डौन में 6 निजी अस्पतालों का आकस्मिक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान गंभीर अनियमितता पाए जाने पर एक अस्पताल को सीज कर एफआईआर दर्ज करवाई गई है। साथ ही अन्य अस्पतालों पर भी नियमानुसार विभागीय कार्रवाई की जाएगी। यह कार्रवाई चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव शुभ्रा सिंह के निर्देशों पर की गई।      अतिरिक्त मुख्य सचिव ने बताया कि हिंडौन के कुछ निजी अस्पतालों में अनियमितता की शिकायतें प्राप्त हुई थीं। कुछ अस्पताल बिना डॉक्टर के संचालित हो रहे थे। वहीं कुछ में अन्य अनियमिताएं भी बरती जा रही थीं। इस संबंध में प्राप्त शिकायतों को देखते हुए राज्य स्तर से 6 टीमों का गठन कर इन अस्पतालो...

गुरूग्राम में किड़नी रैकेट का भंडाफोड, जयपुर के फोर्टिस हाॅस्पिटल में बदलती थी किड़नी, अस्पताल के डाॅक्टर्स की गिरफ्तारी संभव

जयपुर। राजस्थान एसीबी द्वारा आॅर्गन ट्रांसप्लांट के फर्जी एनओसी प्रकरण में लिए गए एक्शन के बाद नित नए खुलासे हो रहे हैं और अब कई बड़े अस्पतालों की पोल पट्टी खुलती नजर आ रही है। इस मामले में अब तक जहां इसे फर्जी एनओसी तक ही सिमटा हुआ मामला समझा जा रहा था वहीं अब इसमें फर्जी तरीके से मानव अंगो की तस्करी और खरीद फरोख्त का मामला भी सामने आया है।  गुड़गांव में सीएम फ्लाइंग और स्वास्थ्य विभाग की टीम ने किडनी रैकेट का भंडाफोड़ किया है। यह रैकेट राजस्थान के जयपुर से चलाया जा रहा था। टीम ने गुड़गांव के सैक्टर 39 के बाबिल पाला होटल में रेड की तो उन्हें बंगलादेश मूल का मोहम्मद शमीम नाम का युवक मिला जिसकी किडनी को जयपुर फोर्टिस अस्पताल में निकाली गई थी। जिसे इसी होटल में डे केयर दिया जा रहा था। टीम ने गेस्ट हाऊस में ठहराए गए किडनी ट्रांसप्लांट कराने वाले 4 मरीजों को पकड़ा है। वहीं पुलिस ने रैके...

खुले में प्रसव मामले में बड़ा एक्शन, तीन रेजीडेंट डाॅक्टर्स निलंबित, कावंटिया अस्पताल अधीक्षक को नोटिस

जयपुर। कावंटिया अस्पताल में चिकित्सकों की लापवाही से खुले में प्रसव के मामले को राज्य सरकार ने गंभीरता से लेते हुए तीन रेजीडेंट डाॅक्टर्स को निलंबित कर दिया गया है। प्रकरण में प्रथम दृष्टया दोषी पाए गए तीन रेजीडेंट चिकित्सकों डाॅ. कुसुम सैनी, डाॅ. नेहा राजावत एवं डाॅ. मनोज को तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर दिया गया है। साथ ही राज्य सरकार ने प्रकरण में पर्यवेक्षणीय लापरवाही के लिए जिम्मेदार अस्पताल अधीक्षक डाॅ. राजेन्द्र सिंह तंवर को भी कारण बताओ नोटिस जारी किया है। अतिरिक्त मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा शुभ्रा सिंह ने बताया कि प्रकरण सामने आने पर चिकित्सा शिक्षा विभाग ने तत्काल प्रभाव से जांच कमेटी गठित की थी। कमेटी की रिपोर्ट के अनुसार प्रथम दृष्टया रेजीडेंट डाॅक्टर डाॅ. कुसुम सैनी, डाॅ. नेहा राजावत एवं डाॅ. मनोज की गंभीर लापरवाही एवं संवेदनहीनता सामने आई है। जांच...

मानव अंग प्रत्यारोपण की फर्जी एनओसी मामला: चिकित्सा शिक्षा आयुक्त की अध्यक्षता में 5 सदस्यीय कमेटी गठित

जयपुर। राज्य सरकार ने एक आदेश जारी कर प्रदेश में मानव अंग प्रत्यारोपण की फर्जी एनओसी मामले एवं निजी अस्पताल में अंग प्रत्यारोपण प्रकरण के संबंध में जांच के लिए चिकित्सा शिक्षा आयुक्त की अध्यक्षता में 5 सदस्यीय उच्च स्तरीय कमेटी गठित की है। यह समिति 15 दिवस ने जांच रिपोर्ट प्रस्तुत करेगी। अतिरिक्त मुख्य सचिव, चिकित्सा शिक्षा शुभ्रा सिंह ने बताया कि चिकित्सा शिक्षा आयुक्त की अध्यक्षता में गठित इस उच्च स्तरीय कमेटी में रजिस्ट्रार राजस्थान मेडिकल कौंसिल, मानव अंग एवं उत्तक प्रत्यारोपण के प्राधिकृत अधिकारी, वरिष्ठ विधि परामर्शी तथा शासन उप सचिव चिकित्सा शिक्षा को सदस्य एवं नोडल अधिकारी-एनओटीपी को सदस्य सचिव के रूप में नामित किया गया है। यह समिति अंग प्रत्यारोण की फर्जी एनओसी प्रकरण, निर्धारित प्रावधानों के तहत मानव अंग प्रत्यारोपण के लिए पंजीकृत सभी निजी अस्पतालों के संबंध में निदेशक जनस्वास...

लोकसभा आम चुनाव-2024: द्वितीय चरण के मतदान के लिए मंगलवार को 27 प्रत्याशियों ने किए 45 नामांकन

जयपुर। लोकसभा चुनाव-2024 के तहत द्वितीय चरण के 13 लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों के लिए मंगलवार को 27 प्रत्याशियों द्वारा 45 नामांकन पत्र प्रस्तुत किए गए। अब तक 54 प्रत्याशियों ने 89 नामांकन प्रस्तुत किए हैं। बागीदौरा विधानसभा क्षेत्र में उपचुनाव के लिए अब तक एक भी नामांकन पत्र प्राप्त नहीं हुआ है।   मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता ने बताया कि द्वितीय चरण के लिए मंगलवार को चित्तौड़गढ़ लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से 4, टोंक-सवाई माधोपुर, पाली, जोधपुर, जालोर और कोटा से 3-3, अजमेर और बाड़मेर से 2-2 एवं उदयपुर, राजसमंद, भीलवाड़ा और झालावाड़-बारां लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से 1-1 प्रत्याशी ने नामांकन किया। टोंक-सवाईमाधोपुर: 5 प्रत्याशियों द्वारा 6 नामांकन पत्र इंडियन पीपुल्स ग्रीन पार्टी के गणेश मीणा, निर्दलीय माखन और जसराम, भाजपा के सुखबीर सिंह जौनपुरिया, भीम ट्राइबल कांग्रेस के जगदीश प्र...

लोकसभा आम चुनाव-2024: राजस्थान देश में सीजर के मामले में पहले स्थान पर, 1 मार्च से अब तक पकड़ी अवैध शराब, नकदी एवं अन्य सामग्री का मूल्य 500 करोड़ रुपये से अधिक

जयपुर। राजस्थान में अलग-अलग एनफोर्समेंट एजेंसियों ने मार्च महीने की शुरुआत से अब तक नशीली दवाओं, शराब, कीमती धातुओं, मुफ्त बांटी जाने वाली वस्तुओं (फ्रीबीज) और अवैध नकद राशि के रूप में लगभग 507.44 करोड़ रुपये कीमत की जब्तियां की हैं। निर्वाचन विभाग के निर्देश पर लोकसभा आम चुनाव-2024 के मद्देनजर आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद 16 मार्च से अब तक एजेंसियों द्वारा पकड़ी गई वस्तुओं की कीमत 400.44 करोड़ रुपये से ज्यादा है।  सीजर के मामले में राजस्थान देश में पहले स्थान पर है। आचार संहिता लागू होने के बाद महाराष्ट्र में 277 करोड़ रुपये, पंजाब में 151 करोड़, दिल्ली में 125 करोड़, पश्चिम बंगाल में 95 करोड़, तमिलनाडू में 78 करोड़, तेलंगाना में 70 करोड़, कर्नाटक में 68 करोड़, गुजरात में 64 करोड़ और मध्य प्रदेश में 59 करोड़ रुपये मूल्य की जब्ती की गई है। मुख्य निर्वाचन अधिकारी श्री प्रवीण गुप...

कई बड़े प्राइवेट हाॅस्पिटल की मिलीभगत से बांग्लादेश, नेपाल, कंबोडिया जैसे अंतरराष्ट्रीय स्तर तक फैला था अंग प्रत्यारोपण स्कैम, करीब 40 फीसदी इंटरनेशनल मामलों में जारी की गई फर्जी एनओसी

जयपुर (आलोक शर्मा) । राजस्थान के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की एसीएस शुभ्रा सिंह और राजस्थान एसीबी के निर्देशन में अंग प्रत्यारोपण स्कैम में लगातार नए खुलासे हो रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग के उच्चाधिकारियों की सतर्कता से समय रहते इस स्कैम का भंडाफोड़ हो चुका है। लेकिन इसमें लगातार सामने आ रहे जांच के तथ्यों पर गौर करें तो यह हर किसी के होश फाख्ता कर देगा।  इसमें राजस्थान में सबसे बड़े प्राइवेट अस्पतालों में शुमार ईएचसीसी और फोर्टिस हाॅस्पिटल की मिलीभगत सामने आने के बाद अब कई और प्राइवेट हाॅस्पिटल का नाम भी शामिल हो गया है जिसके बाद राजस्थान एसीबी ने इस पूरे स्कैम को एक साधारण मामले की तरह डील ना करते हुए इसे स्पेशल केस मानकर पड़ताल और तेज कर दी है। एसीबी की एक स्पेशल टीम अब इस पूरे प्रकरण में शामिल हर उस शख्स तक पहुंचने में जुटी है जो किसी भी रूप में इसमें शामिल था। सूत्रों की मानें तो...