India

कोरोना वायरस के खतरे के बीच 31 मार्च तक देशभर में भारतीय ट्रेनें रद्द

नई दिल्ली. कोरोना की सुनामी से निपटने की दिशा में भारत सरकार ने एक और महत्वपूर्ण फैसला लेते हुए 31 मार्च तक सभी ट्रेनें बंद कर दी है. केवल मालगाड़ियों की आवाजाही ही इस दौरान हो सकेगी. भारत ने चीन के बाद इटली में कोरोना वायरस के संक्रमण से बिगड़े हालातों के बीच कमर कस ली है. जो गलती इन दोनों देशों में हुई वो गलती भारत नहीं दोहराना चाहता. देश के कई बड़े और विकसित देशों में बिगड़े हालातों के बीच जहां भारत में रविवार को जनता कर्फ्यू की पहल की गई वहीं राजस्थान सरकार ने तो 31 मार्च तक पूरे प्रदेश की सीमाएं सील करते हुए लॉक डाउन की घोषणा कर दी है. राजस्थान के बाद पंजाब, उत्तराखंड सरकार ने भी 31 मार्च तक लॉक डाउन का ऐलान कर दिया है.कोरोना के खतरे पर पूरा देश अलर्ट है. वहीं अब लोग एक दूसरे से कम से कम सम्पर्क में आएं, संक्रमण एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में ना फेले इस लिहाज से एक और महत्वूप...

कोरोना के खतरे के बीच राजस्थान में 31 मार्च तक लॉक डाउन

जयपुर. राजस्थान सरकार ने एक महत्वपूर्ण फैसला लेते हुए पूरे प्रदेश में कोरोना वायरस के खतरे के चलते लोक डाउन का ऐलान कर दिया है. 31 मार्च तक पूरे प्रदेश में लोक डाउन रहेगा. सिर्फ अति आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सारे प्रतिष्ठान, सरकारी दफ्तर, प्राइवेट दफ्तर, स्कूल, कॉलेज कोचिंग इंस्टीट्यूट सब बंद रखे जाएंगे. नियमों का उल्लंघन करने पर प्रशासनिक अधिकारियों और पुलिस को आवश्यक कार्रवाई के निर्देश मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जारी किए हैं. कोरोना वायरस के लगातार बढ़ते खतरे के बीच राज्य सरकार को यह फैसला लेना बेहद जरूरी था. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए प्रदेश के हित में यह फैसला लिया है. साथ ही प्रदेशवासियों से धैर्य बनाए रखने की अपील की है और सभी से सहयोग की उम्मीद जताई है.   रोडवेज समेत सभी सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था इस दौरान बंद रखी जाएगी. राजस्थान से जुड़ी सभी सी...

World Happiness Report-2020: फिनलैंड फिर दुनिया का सबसे खुशहाल देश बना, भारत की रैंकिंग गिरी, पाक की सुधरी

न्यूयॉर्क (TEN वर्ल्ड डेस्क). World Happiness Report-2020 जारी कर दी गई है. फिनलैंड ने एक बार फिर दुनिया के सबसे खुशहाल देशों में पहला स्थान प्राप्त किया है. फिनलैंड ने तीसरी बार यह पहला स्थान हासिल करने का गौरव प्राप्त किया है. संयुक्त राष्ट्र द्वारा जारी वर्ल्ड हैप्पीनेस रिपोर्ट-2020 के मुताबिक टॉप 10 (TEN) शीर्ष खुशहाल देशों में से 9 यूरोप के हैं. और तो और टॉप-20 शीर्ष खुशहाल देशों में एशिया का एक भी देश शामिल नहीं हो पाया है. 153 देशों को लेकर तैयार की गई इस रिपोर्ट में अफगानिस्तान, दक्षिणी सूडान, जिम्बाब्वे और रवांडा सबसे निचले पायदान पर हैं. फिनलैंड के बाद डेनमार्क, स्वीट्जरलैंड, आइसलैंड और नॉर्वे खुशहाल देशों की सूची में टॉप पर रहे हैं. आपको बता दें किसी देश की खुशहाली मापने के लिए 6 मानकों पर सवाल तैयार किए गए थे. इनमें संबंधित देश की प्रति व्यक्ति आय, जीडीपी, सामाजिक सहयोग-सौहा...

कोरोना वायरस: जानिए इससे जुड़े 10 बड़े सच

कोरोना संक्रमण की दहशत पुरी दुनिया के साथ भारत में भी ऐसे फैल चुकी है. ऐसा माहौल बन गया है जैसे हर किसी को मानो सामने मौत खड़ी नजर आ रही है. सोशल मीडिया पर चल रहे भ्रामक प्रचार, गलत खबरों से ऐसा माहौल बन गया है जैसे हर आदमी की मौत निश्चित है. लेकिन यह सच नहीं है. इस वक्त देश की केन्द्र और राज्य सरकारें जो गाइडलान्स जारी कर रही हैं उन्हें यदि समय रहते, सतर्क रहते हुए ही फोलो कर लिया जाए तो आपको कोई खतरा नहीं. लेकिन भारतीय लोग अभी भी इसको हल्के में ले रहे हैं. खुद का और परिवार का बचाव करने के उपाय अपनाने के बजाए भारतीय बेवजह के जॉक्स और भ्रामक प्रचार में अपना समय जाया कर रहे हैं. Breaking News >> अमेरिकी सांसद ने चीन पर ठोका 200 खरब डॉलर का केस, COVID-19 जैविक हथियार बनाने का आरोप इस वक्त हमें दो बड़े सच जानना बेहद जरुरी है. पहला सच यह है कि जरुरी नहीं आप कोरोना संक्रमित के सम्पर...

कोरोना पॉजिटिव सिंगर कनिका कपूर की पार्टी में शामिल हुईं थीं वसुंधरा राजे बेटे दुष्यंत के साथ

लखनऊ/ नई दिल्ली. कोरोना के खौफ के बीच एक बड़ी खबर निकल कर आई है. पहली भारतीय सेलेब को कोरोना की पुष्टि हो चुकी है. बॉलीवुड की मशहूर गायिका कनिका कपूर कोरोना वायरस से संक्रमित पाई गई हैं. कनिका ने खुद सोशल मीडिया पर इसकी जानकारी दी. कनिका 15 मार्च को लंदन से लखनऊ पहुंची थीं, जहां रविवार को एक पार्टी में शामिल हुई. बड़ी बात यह है कि लखनऊ में वे जिस पार्टी में वो शामिल हुईं थी उसमें राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और उनके बेटे झालावाड़ से सांसद दुष्यंत सिंह भी शामिल थे. इतना ही नहीं इस पार्टी के बाद संसद की कार्यवाही में भी सांसद दुष्यंत सिंह शामिल हुए. जैसे ही कनिका कपूर के पॉजिटिव पाए जाने की जानकारी मिल तो वसुंधरा राजे और दुष्यंत सिंह दोनों ने ही खुद एक जिम्मेदार नागरिक की भूमिका अदा करते हुए पृथक कर लिया है और कोरोना का टेस्ट भी करवाया है. इतना ही नहीं दोनों ने खुद को अलग...

चीन से करीब 7, 562 km दूर इटली को कैसे बना डाला कोरोना ने दुनिया की सबसे बड़ी कब्रगाह? पढें पूरी रिपोर्ट

रोम/नई दिल्ली. हम सब सोच रहे होंगे कि आखिर भारत में इतना डर कोरोना को लेकर क्यों बना हुआ है, कहीं धारा 144 लगाई जा रही है तो कहीं शॉपिंग मॉल, सिनेमाघर, रेस्त्रां बंद किए जा रहे हैं, और तो और अब जनता कर्फ्यू के हालात देखने को मिल रहे हैं. लेकिन इन सब के पीछे क्या आप जानते हैं क्या कारण है? इसके पीछे का एकमात्र कारण है इटली. इटली ने जो गलती की वो भारत या कोई भी समझदार देश नहीं करना चाहेगा. क्योंकि चीन से करीब 7, 562 किलोमीटर दूर होने के बावजूद इटली में कोरोना वायरस का ऐसा कहर देखने को मिला कि जिस देश में कोरोना का दूर दूर तक नाम नहीं था वो आज दुनिया की सबसे बडी कब्रगाह बन गया है. कोरोना के कहर से चीन में भले ही मौत का सिलसिला थम गया है लेकिन इटली में इस महामारी ने दुनिया की सबसे बड़ी कब्रगाह बना दी है. चीन में मरने वाले लोगों की संख्या को इटली ने पीछे छोड़ दिया है. चीन में जहां कोरोना...

7 साल 3 महीने और 3 दिन... निर्भया के दोषियों को लटकाया गया फांसी पर

-निर्भया केस के चारों आरोपियों को फांसी पर लटकाया गया -सुबह 5.30 बजे दी गई चारों दोषियों को फांसी -आधे घंटे बाद तक लटकाए रखा फांसी पर -जेलर के निर्देश पर जल्लाद पवन ने दी फांसी - मेडिकल अफसर ने चारों को मृत घोषित किया - फांसी से पहले SC और HC ने खारिज की थी याचिका - निर्भया के माता-पिता ने 20 मार्च, निर्भया दिवस के रूप में मनाने को कहा. नई दिल्ली. देश और दुनियाभर में मानवता को शर्मसार कर देने वाले निर्भया के केस के चारों गुनहगारों को आखिरकार 20 मार्च की सुबह साढ़े पांच बजे फांसी के तख्ते पर लटका दिया गया. 7 साल 3 महीने और 3 दिन बाद मिले इस इंसाफ को लेकर देशभर में जश्न भी देखने को मिला कहीं आतिशबाजी हुई तो कहीं मुंह मीठा कराकर देश की बेटी के गुनहगारों का फांसी मिलने पर खुशी जाहिर की गई. तिहाड़ जेल इस दौरान कई लोग मौजूद रहे जिन्होने इसे न्याय की जीत बताई. निर्भया ...

पीएम मोदी का राष्ट्र के नाम संदेश, रविवार सुबह 7 से रात 9 बजे तक जनता कर्फ्यू

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने 29 मिनट के राष्ट्र के नाम संबोधन में कहा कि पूरी दुनिया संकट के दौर से गुजर रही है. देशवासियों को हर हाल में कर्तव्यों की पालना के लिए संकल्प मजबूत करना होगा और संयम के मार्फत सोशल डिस्टेंस रखना जरूरी है. बहुत जरूरी होने पर ही घर से बाहर निकलें. कोरोना को गंभीर संकट बताते हुए पीएम ने कहा कि दो महीने से हम चिंताजनक खबरें सुन रहे हैं. दुनिया गंभीर संकट से गुजर रही है. ऐसे में मुझे आपका आने वाला कुछ समय चाहिए. भारत ने अब तक कोरोना का डट कर सामना किया है. हमारे परिवार में जो भी सीनियर सिटीजन हैं वे आने वाले कुछ सप्ताह तक घर से बाहर न निकलें. मैं आज प्रत्येक देशवासी से एक और समर्थन मांगता हूं कि वो 22 मार्च रविवार को सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक सभी 'जनता कर्फ्यू' का पालन करें. इस जनता कर्फ्यू के दरमियान कोई भी नागरिक घरों से बाहर न निकले. न मोहल्ल...

कोरोना से दूर रहना हो तो इन दस (TEN) कामों के दौरान जरुर धोएं हाथ!

नई दिल्ली (ऋचा शर्मा). वैसे तो हमें बचपन से ही स्कूल में हाथ धोने की आदतों को लेकर बहुत कुछ सिखाया जाता है. समझाया जाता है कि किन कामों को करते हुए हाथ धोना चाहिए. हाथ धोने की आदत हमें हमारे घर पर भी डालनी होती है. स्वस्थ रहने के लिए हाथ धोने का महत्व किसी से छुपा नहीं है. बावजूद इसके कई बार हम जल्दबाजी या यों कहें कि आलस के चलते हाथ धोने में लापरवाही करते हैं. और यही लापरवाही आज देश और दुनिया में जानलेवा साबित हो रही है. कोरोना जैसे गंभीर वायरस के संक्रमण का सबसे बड़ा कारण हाथ को साफ ना करना बना हुआ है. इसके लिए सैनिटाइजर या साबुन का इस्तेमाल किया जा सकता है. ध्यान रखा जाए कि हाथों में लेकर कम से कम 40 सेकंड तक हाथों को अच्छी तरह से रगड़ कर धोना जरुरी है. ऐसा करने पर ही बैक्टीरिया और गंदगी हाथों से निकल जाती है अन्यथा यह गंभीर बीमारी का कारण बन सकते हैँ. आपको यह भी बता दें कि WHO के ...

किसने और क्यों की कोरोना से US में 22 लाख और UK में 5 लाख मौत की भविष्यवाणी?

लंदन (सौम्यता मिश्रा). दुनिया भर में हाहाकार मचा देने वाले कोरोना वायरस को लेकर खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है. लोगों का सुख चैन इस कोरोना वायरस ने छीन लिया है. इस बीच अमेरिका और लंदन के लोगों के लिए एक और डरावनी खबर सामने आई है. हालांकि ब्रिटेन सरकार ने इस डरावनी खबर के बाद और सख्त एहतियातन कदम उठाने शुरू कर दिए हैं. और पूरे देश में अलर्ट मोड पर सरकार आ गई है. बड़ी बात यह है यदि इंपीरियल कॉलेज लंदन में मैथामेटिकल बायोलोजी के प्रोफेसर और कोरोना पर स्टडी करने वाली टीम के प्रमुख नील फर्ग्यूसन की स्टडी पर नजर डालें तो उनका मानना है कि कोरोना वायरस का खतरा अभी टलने वाला नहीं है. इससे अमेरिका में 22 लाख और लंदन में कई 5 लाख लोगों की मौत हो सकती है. नील फर्ग्यूसन ने अपनी स्टडी के आधार पर ये आशंका जताते हुए भविष्यवाणी की है. उन्होंने इटली से कोरोना पीड़ितों और मरने वालों का ताजा आंकड़ा एकत्रित कि...