More

चक्रवात तौकते से निपटने के लिए जल, थल और वायु सेना ने संभाला मोर्चा, कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ने की समीक्षा

- कैबिनेट सचिव ने चक्रवात तौकते पर राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन समिति (एनसीएमसी) की बैठक की अध्यक्षता की - राजीव गौबा ने कहा - हमारा लक्ष्य जान माल की कम से कम क्षति सुनिश्चित करना होना चाहिए -अस्पतालों और कोविड केयर सेंटरों का निर्बाध संचालन सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक व्यवस्था की गई दिल्ली। कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ने अरब सागर में चक्रवाती तूफान तौकते के मद्देनजर राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन समिति (एनसीएमसी) की बैठक ली। यह बैठक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से गुजरात, महाराष्ट्र, गोवा, कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु के मुख्य सचिवों के साथ-साथ लक्षद्वीप और दादरा एवं नगर हवेली तथा दमन एवं दीव के केन्द्र-शासित प्रदेशों के प्रशासकों के सलाहकारों के साथ हुई। विभिन्न केन्द्रीय मंत्रालयों के सचिव भी इस वीडियो कॉन्फ्रेंस में शामिल हुए। केन्द्रीय और राज्य एजेंसियों की तैयारियों की समीक्षा करते ह...

जिंदगी जिंदाबाद! कोरोना संकटकाल में 30 डॉक्टर किए एकजुट, दिन-रात मदद के लिए शुरू की निशुल्क हेल्पलाइन, संकट मौचक बन अब तक बचाई सैंकड़ों जिंदगियां

जयपुर (आलोक शर्मा). तीर खाने की हवस है तो जिगर पैदा कर, सरफ़रोशी की तमन्ना है तो सर पैदा कर, इन्ही गम की घटाओं से खुशी का चांद निकलेगा, अंधेरी रात के पर्दे में दिन की रौशनी भी है...इसी सोच, जोश और जुनून के साथ हार की परवाह किए बिना जीत की जिद के कुछ बादशाहों ने ठाना कि चाहे कुछ भी हो जनता को कोरोना संकट में यूं मरता नहीं देखा जा सकता, यही वो वक्त है जब अपना लहू भी देश की सेवा में अर्पण करना पड़े तो भी कोई गम नहीं.  एक ओर जहां अस्पतालों और चिकित्सकों पर यह आरोप लग रहे हैं कि वो कोरोना संकटकाल में भी लोगों को लूट रहे हैं वहीं दूसरी ओर इससे परे मजबूत इरादों, फौलादी हौसलों के साथ जयपुर के युवा कनिष्क शर्मा और अरस्तु शर्मा ने ठाना ​की पैसा जिंदगी में कभी भी कमाया जा सकता है पर यह वक्त लोगों के लिए निशुल्क सेवा का है. बस फिर क्या था जब लोग सही जानकारी और सही चिकित्सकीय पराम...

भारतीय वायु सेना ने झौंकी ताकत, एक ही दिन में देशभर में 400 उडानें. 59 अंतरराष्ट्रीय उडानों से लाए ऑक्सीजन उपकरण और दवाएं, नौसेना भी पीछे नहीं

नई दिल्ली (विकास विजय). भारतीय वायु सेना (आईएएफ) और भारतीय नौसेना (आईएन) ने मौजूदा कोविड-19 संकट से निपटने के लिए ऑक्सीजन कंटेनरों और चिकित्सा उपकरणों के परिवहन को लेकर अपनी क्षमताओं को और प्रयासों को और तेज कर दिया है. नागरिक प्रशासन की सहायता करने  के लिहाज से 07 मई को वायुसेना के सी-17 विमानों ने देश के भीतर से 400 उड़ानें संचालित की. एक दिन भीतर इनमें से करीब 351 उड़ानों के मार्फत 4,904 मीट्रिक टन की कुल क्षमता के 252 ऑक्सीजन टैंकरों को एयरलिफ्ट किया गया और जामनगर, भोपाल, चंडीगढ़, पानागढ़, इंदौर, रांची, आगरा, जोधपुर, बेगमपेट, भुवनेश्वर, पुणे, सूरत, रायपुर, उदयपुर, मुंबई, लखनऊ, नागपुर, ग्वालियर, विजयवाड़ा, बड़ौदा, दीमापुर और हिंडन में ऑक्सीजन सप्लाई के काम में बड़ी राहत पहुंचाई गई. भारतीय वायुसेना के विमानों ने 1,252 खाली ऑक्सीजन सिलेंडरों के साथ-साथ 1,233 मीट्रिक टन कुल ...

राजस्थान में ऑक्सीजन और दवाओं की भारी किल्लत, 3 मंत्री जाएंगे दिल्ली, केंद्र को करवाएंगे समस्या से अवगत

जयपुर। राजस्थान में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों पर लगाम कसने के लिए राजस्थान सरकार हर संभव प्रयास कर रही है। लेकिन ऑक्सीजन और रेमडेसिविर जैसे इंजेक्शन की कमी ने राजस्थान सरकार की चिंता बढ़ा दी है। इतना ही नहीं 1 मई से शुरू होने वाले 18 वर्ष से अधिक की आयु वालों के लिए वैक्सीन उपलब्ध नहीं होने के चलते वैक्सीनेशन का कार्य भी प्रभावित हो रहा है। ऐसे में इन सभी कार्यों की समीक्षा के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने निवास पर सोमवार रात एक बैठक बुलाई और बैठक में तीन सदस्यीय समिति गठित करने का निर्णय हुआ। जिसमें मंत्री डॉ. रघु शर्मा, डॉ. बीडी कल्ला एवं शांति धारीवाल शामिल किए। इनको दिल्ली भेजने का भी निर्णय हुआ। यह पहली बार होगा कि किसी प्रदेश से तीन मंत्री दिल्ली पहुंचेंगे और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री एवं विभाग के अधिकारियों से चर्चा कर प्रदेश में ऑक्सीजन और दवाइयों के क्राइसिस की स्थिति...
ऐसे में इन सभी कार्यों की समीक्षा के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने निवास पर सोमवार रात एक बैठक बुलाई और बैठक में तीन सदस्यीय समिति गठित करने का निर्णय हुआ। जिसमें मंत्री डॉ. रघु शर्मा, डॉ. बीडी कल्ला एवं शांति धारीवाल शामिल किए। इनको दिल्ली भेजने का भी निर्णय हुआ। यह पहली बार होगा कि किसी प्रदेश से तीन मंत्री दिल्ली पहुंचेंगे और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री एवं विभाग के अधिकारियों से चर्चा कर प्रदेश में ऑक्सीजन और दवाइयों के क्राइसिस की स्थिति से अवगत कराकर सप्लाई की मांग करेंगे।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि राजस्थान में ऑक्सीजन की भयंकर कमी है। कई मुख्यमंत्रियों से प्राइम मिनिस्टर के साथ वीसी में भी रेमडेसिविर और ऑक्सीजन की मांग की थी, अभी तक पूरी हुई नहीं है, ये चिंता का विषय है।

-->

खनन कार्य को गति देने के लिए राजस्थान सरकार और हिंदुस्तान जिंक करेंगे साथ काम

जयपुर. राज्य में माइंस एवं पेट्रोलियम विभाग व हिन्दुस्तान जिंक के विशेषज्ञ मिलकर खनन खोज एवं खनन गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए समन्वित प्रयास करेंगे। इसके लिए हिन्दुस्तान जिंक और विभाग के विशेषज्ञ अधिकारियों की टीम गठित की जाएगी। इससे प्रदेश में खनन खोज और खनन कार्य को गति मिलेगी व प्रदेश में राजस्व व रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। एसीएस माइंस एवं पेट्रोलियम डा. सुबोध अग्रवाल सोमवार को सचिवालय से वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से हिन्दुस्तान जिंक के लिए कार्य कर रही एक्सपर्ट बोस्टन कंसल्टिंग ग्रुप (बीसीजी) टीम और विभाग के माइनिंग और जियोलॉजी के वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक ली। उन्होंने बताया कि यह वीडियो कॉन्फ्रेसिंग पिछले दिनों मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ वेदांता समूह के चेयरमेन अनिल अग्रवाल के साथ हुई चर्चा के निर्णयों को आगे बढ़ाने के उद्देश्यर से आयोजित की गई। उल्लेखनीय है कि चर्चा के दौर...

7 लाख वर्ग फुट में बनेगा 5 हजार बेड का अस्थाई कोविड केयर सेंटर, राधास्वामी सत्संग केन्द्र और राजस्थान सरकार की पहल

जयपुर. राजस्थान में कोरोना के बढते खतरे से निपटने के लिए सरकार हर वो संभव प्रयास कर रही है जिससे इसकी आक्रमकता को बढने से रोका जा सके. हर संभव इलाज, हर जरूरतमंद तक पहुंच सके. इसी कड़ी में अब राजस्थान सरकार ने राधास्वामी सत्संग केन्द्र के साथ मिलकर एक और बड़ी पहल की है. बढ़ते कोरोना मरीज और अस्पतालों में बेड की कमी बीच अलर्ट सरकार ने जयपुर के बीलवा में स्थित राधा स्वामी सत्संग ब्यास (Radha Swami Satsang Beas) केंद्र में 7 लाख वर्ग फुट एरिया क्षेत्र में 5 हजार कोविड मरीजों के लिए अस्थाई कोविड केयर सेंटर (Covid Care Center) बनाने का निर्णय किया है और इस पर तुरंत काम भी शुरू कर दिया है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के निर्देश पर पूरा सरकारी अमला जयपुर कलेक्टर अंतर सिंह नेहरा, जयपुर विकास प्राधिकरण आयुक्त गौरव गोयल के नेतृत्व में इस अस्थाई अस्पताल के निर्माण में जुट गया है. स्वास्थ्य विभाग के अध...

देश में वैक्सीन चोरी का पहला मामला, राजस्थान के सरकारी कावंटिया अस्पताल से 320 वैक्सीन की डोज चोरी 

जयपुर. एक ओर जहां राजस्थान सरकार प्रदेश में लगातार कोविड वैक्सीन की कमी को लेकर चिंतित है, लगातार केन्द्र से वैक्सीन की मांग की जा रही है. वहीं दूसरी ओर आलम यह है कि जयपुर के सरकारी कांवटिया अस्पताल से 320 कोरोना वैक्सीन की डोज ही गायब हो गई है. अस्पताल प्रशासन को जैसे ही इसकी जानकारी  मिली तो होश फाख्ता हो गए. पहले तो मामले को चुपचाप दबाने की कोशिश की गई लेकिन जैसे ही मामला सामने आया तो अब मामले की सूचना स्थानीय पुलिस को दी गई है. और वैक्सीन चोरों का पता लगाने के लिए एफआईआर दर्ज करवाई गई है. माना जा रहा है कि इस वैक्सीन के गायब होने से  जुडे खेल में अस्पताल का ही स्टाफ शामिल है. जिसने या तो ब्लैक में या अपने ही चहेतों को यह  वैक्सीन उपलब्ध करवा दी है. अस्पताल के स्टाफ से पूछताछ की जा रही है. कावंटिया अस्पताल के अधीक्षक डॉक्टर हर्षवर्धन ने शास्त्री नगर थाने में व...

परमबीर झूठ बोल रहे हैं, नहीं कहा 100 करोड रुपए कलेक्ट करने को: अनिल देशमुख, गृहमंत्री, महाराष्ट्र

मुंबई. पूर्व पुलिस आयुक्त परमवीर सिंह द्वारा महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख पर हर माह 100 करोड रुपए कलेक्ट करने का आरोप लगाए जाने के बाद महाराष्ट्र की सियासत में बवाल मचा हुआ है. इस बीच महाराष्ट्र के गृहमंत्री की कुर्सी पहले से ही खतरे में थी और अब एक बार फिर उनको बड़ा खतरा पैदा हो गया है. पर इन सब आरोपों के बाद महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने आरोपों को सिरे से खारिज किया और कहा कि यह उनको और उनकी सरकार को बदनाम करने की कोई साजिश रची गई है. परमबीर सिंह द्वारा मेरे ऊपर लगाए गए आरोप झूठे हैं और यह खुद को बचाने के लिए और मुझे, महाविकास गठबंधन सरकार को बदनाम करने के लिए रची गई साजिश है. गृहमंत्री ने कही 10 बड़ी बातें: 1- सचिन वेज की गिरफ्तारी के बाद इतने दिनों तक चुप क्यों बैठे थे परमबीर सिंह? उसने उसी समय अपना मुंह क्यों नहीं खोला? 2- यह महसूस करने के बाद कि आपको कल 17 मार...

60 साल के एक बुजुर्ग की कोरोना वैक्सीन लगने के बाद 20 घंटे में मौत

कोटा. राजस्थान के कोटा में वैक्सीन लगने के 20 घंटे बाद अचानक गुरुवार को 60 साल के एक बुजुर्ग की मौत हो गई। बुजुर्ग ने बुधवार को कोरोना वैक्सीन लगवाई थी। इस घटनाक्रम के बाद चिकित्सा महकमे में हड़कंप मच गया। मामले को गंभीरता से लेते हुए हेल्थ विभाग ने 15 डॉक्टरों की इमरजेंसी मीटिंग बुलाकर जांच के आदेश दिए। 3 डॉक्टरों के मेडिकल बोर्ड ने शव का पोस्टमार्टम किया। डॉक्टरों का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के सही कारण सामने आएंगे। मृतक के परिजनों का कहना है कि बुजुर्ग को किसी तरह की कोई बीमारी नहीं थी। 60 साल के बहादुर सिंह किसान थे। वह जिले के बालूखेड़ा ग्राम पंचायत के गरमोडी गांव में रहते थे। बुधवार दोपहर करीब 1 बजे पीएचसी बालूहेड़ा पर बहादुर सिंह ने कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लगवाई थी। उन्हें डेढ़ बजे तक निगरानी में रखा गया था। उसके बाद वह घर वापस आ गए थे। मृतक के भाई गोविंद स...

राजस्थान सरकार का बजट 2021-22 तैयार, जानिए बजट निर्माण में अहम रोल निभाने वाले 10 सुपर ऑफिसर्स कौन रहे?

जयपुर (आलोक शर्मा) . राजस्थान सरकार बजट पेश करने जा रही है. इस बजट को तैयार कर लिया गया है, और मूर्त रूप जनता के सामने कुछ ही घंटों बाद 24 फरवरी की सुबह 11 बजे आने वाला है. राजस्थान के मुख्यमंत्री जो कि इस सरकार के वित्त मंत्री भी हैं उन्होने इस बजट को जनता के लिए, गरीबों के लिए, किसानों के लिए, उद्योग और व्यापार जगत के लिए एक फ्रेंडली बजट बनाने का भरसर प्रयास किया है. पर इस बजट को मुख्यमंत्री की मंशा के मुताबिक मूर्त रूप देने में कौन से वो ब्यूरोक्रेसी के सुपर ऑफिसर्स रहे जिन्होंने दिन रात एक कर दिया, और पिछले कई माह की मेहनत के बाद इस बजट को तैयार किया. यह हम सबके लिए जानना काफी अहम हो जाता है. 1. निरंजन आर्य, CS, राजस्थान सरकार  राजस्थान सरकार की ब्यूरोक्रेसी के मुखिया होने के नाते प्रदेशभर के ऑफिसर्स से नए बजट को लेकर फीडबैक, डाटाबेस और प्रस्ताव इन्ही के निर्...