सांसद मोहन डेलकर ने की आत्महत्या, गुजराती में लिखा सुसाइड नोट छोड़ा


मुंबई. सांसद मोहन डेलकर ने आत्महत्या कर ली है. उन्होंने मुंबई के एक होटल में आत्महत्या की, पुलिस को उनका गुजराती भाषा में लिखा एक सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है. दादर और नागर हवेली के सांसद मोहन डेलकर ने होटल सी ग्रीन मरीन में आत्महत्या की.

बता दें कि उन्होंने अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत एक ट्रेड यूनियन के नेता के तौर पर थी. वे कांग्रेस और बीजेपी के टिकट पर सांसद का चुनाव लड़ चुके थे और उसके बाद उन्होंने भारतीय नवशक्ति पार्टी का गठन भी किया था. 

Read full story: पायलट के बाद अब वसुंधरा खेमा भी शक्ति प्रदर्शन की राह पर, दोनों ही अनदेखी से खफा

उनकी क्षेत्र में काफी अच्छी पकड़ थी यही कारण रहा कि वो तीन बार लोकसभा का चुनाव जीतकर लोकसभा पहुंचे थे. साल 2019 में उन्होंने खुद को कांग्रेस से अलग कर बतौर निर्दलीय उम्मीदवार लोकसभा चुनाव जीता था. 

Read full story: पुड्डुचेरी में अनैतिक तरीके से कांग्रेस सरकार गिराकर बीजेपी ने दिखाया सत्ता के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं: अशोक गहलोत

डेलकर की उम्र 58 साल थी. वे 1989 में पहली बार सांसद बने थे. तब से अब तक वे 7 बार लोकसभा के लिए चुने जा चुके थे. उन्होंने 1989 से 2004 तक लगातार 6 बार लोकसभा चुनाव में जीत दर्ज की थी. डेलकर के परिवार में पत्नी कलाबेन डेलकर, दो बच्चे अभिनव और दिविता हैं.


Courtesy: Navid Mamoon, Gabriel Rasskin & Covid Visualizer Team.