Politics

बीजेपी विधायक की अपनी ही पार्टी की महिला नेता पर अभद्र टिप्पणी कितनी जायज? हर तरफ निंदा, स्पेशल रिपोर्ट

जयपुर/ नई दिल्ली(Special report). लगता है भाजपा के नेता अपने ही चुनावी वादों और मुद्दों से भटक गए हैं. महिला सुरक्षा और सम्मान के नाम पर उनके स्वाभिमान की रक्षा करने का वादा करने वाले भाजपा नेता ही पार्टी लाइन से भटक गए हैं. राजस्थान बीजेपी के एक विधायक ने 22 अगस्त 2019 को अपनी ही पार्टी की एक महिला नेता पर अभद्र टिप्पणी कर दी. जयपुर के सांगानेर से बीजेपी के विधायक अशोक लाहोटी ने पार्टी नेता सुमन शर्मा को लेकर ऐसी टिप्पणी कर दी, जो अभद्र थी. खास यह कि जिस समय विधायक ने टिप्पणी की, सुमन शर्मा भी मौजूद थीं. इतना ही नहीं सुमन शर्मा पर इस दौरान की गई टिप्पणी का असर यह हुआ कि ना केवल पूर्व महिला आयोग अध्यक्ष खुद सुमन शर्मा असहज हो गई बल्कि साथ बैठी महिला कार्यकर्ता भी शर्मिदंगी महसूस करने लगीं. लाहोटी ने गहलोत सरकार के कार्यकाल में कानून-व्यवस्था के गिरते स्तर पर बीजेपी द्वारा आयोजित प्रदर्शन क...

यादों में अरुण जेटली, जानिए उनके जीवन से जुड़ी 10 बड़ी बातें

नई दिल्ली. पूर्व केंद्रीय मंत्री और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली 66 वर्ष के थे. अरुण जेटली को सांस में तकलीफ के चलते 9 अगस्त को एम्स में भर्ती करवाया गया था. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, पीएम नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, सोनिया गांधी, राहुल गांधी, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सहित कई दिग्गजों ने निधन पर शोक जताया है. पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली बीजेपी के वो मजबूत कड़ी थे जिनके जाने से पार्टी को बहुत बड़ा नुकसान हुआ है. बीजेपी के 'अरुण' के चले जाने को लेकर भाजपा में हर कोई दुखी है. उन्हें हर राजनीतिक विषय पर अपने स्पष्ट विचारों एवं वाकपटुता के लिए जाना जाता था. अरुण जेटली से जुड़ी 10 बड़ी बातें- 1. अरूण जेटली अपने कॉलेज लाइफ में एक हौनहार छात्र थे. दिल्ली के 'श्री राम कॉलेज ऑफ कॉमर्स' से वाणिज्य में स्नातक की और दिल्ली विश...

पूर्व केन्द्रीय मंत्री अरुण जेटली का निधन, 12.07मिनट पर ली अंतिम सांस

नई दिल्ली. पूर्व केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली (Arun Jaitley) का निधन हो गया है. शुक्रवार को उनकी हालत और ज्यादा बिगड़ गई थी. जेटली को सांस लेने में तकलीफ पर 9 अगस्त को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में भर्ती कराया गया था. उनका गुरुवार को डायलसिस भी किया गया था.

भारत भी मंदी की चपेट में, वित्त मंत्री ने कही यह 10 बड़ी बातें

नई दिल्ली.अमेरिका और चीन के ट्रेड वॉर के बीच जर्मनी सहित कई बड़े देश मंदी की चपेट में आ गए हैं. हालांकि पहले सरकार का दावा रहा कि इसका असर भारत पर नहीं होगा लेकिन अब स्थितियां कुछ अलग बन गई हैं. खुद भारत की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने माना कि भारत भी इस मंदी की चपेट में आ गया है, हालांकि चीन, अमेरिका और यूरोपीय देशों की तुलना में भारत की अर्थव्यवस्था बेहतर कर रही है. अमेरिका-चीन व्यापार युद्ध तथा मुद्रा अवमूल्यन के चलते वैश्विक व्यापार में काफी उतार-चढ़ाव वाली स्थिति पैदा हुई है. वित्त मंत्री ने अर्थव्यवस्था को बूस्ट करने, कारोबार को आसान करने और इंडस्ट्री को राहत देने के लिए कई घोषणाएं की है. कैपिटल गेन टैक्स से बढ़ाया गया सरचार्ज हटाने से लेकर, ईएमआई कम करने, जीएसटी रिफंड 30 दिन में करने जैसी कई राहत इंडस्ट्री को दी है. निर्मला सीतारमण ने अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि वैश्विक डिमा...

सीबीआई ने पी चिदंबरम को किया गिरफ्तार

नई दिल्ली. INX Media Case में नाटकीय घटनाक्रम के तहत सीबीआई ने पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम को गिरफ्तार कर लिया. देश में सबसे ज्यादा चर्चा का विषय यह मुद्दा बना हुआ है. इससे पहले पी चिदंबरम ने कांग्रेस दफ्तर में प्रेसवार्ता कर खुद को निर्दोष बताया. CBI ने आरोप लगाया है कि कार्ति चिदंबरम के कंट्रोल वाली एक निजी कंपनी को इंद्राणी और पीटर मुखर्जी के मीडिया हाउस से फंड ट्रांसफर हुआ था. कार्ति ने अपने प्रभाव का इस्तेमाल करके INX को फॉरेन डायरेक्ट इनवेस्टमेंट क्लियरेंस हासिल करने में मदद की थी. INX मीडिया मामले में सीबीआई ने 15 मई 2017 को प्राथमिकी दर्ज की थी. इसके बाद ईडी ने पिछले साल इस संबंध में मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया था. जांच एजेंसियों का दावा है कि सन 2007 में जब चिदंबरम वित्त मंत्री थे तब उन्होंने पीटर मुखर्जी और इंद्राणी मुखर्जी की कंपनी INX मीडिया (INX Media) को मंज़ूरी दिलवाई...

क्या है INX मीडिया केस? मामले में कब कब क्या हुआ? जानिए 10 बड़ी बातें

INX Media Case इस वक्त सबसे ज्यादा चर्चा का विषय बना हुआ है. इसमें CBI ने आरोप लगाया है कि कार्ति चिदंबरम के कंट्रोल वाली एक निजी कंपनी को इंद्राणी और पीटर मुखर्जी के मीडिया हाउस से फंड ट्रांसफर हुआ था. कार्ति ने अपने प्रभाव का इस्तेमाल करके INX को फॉरेन डायरेक्ट इनवेस्टमेंट क्लियरेंस हासिल करने में मदद की थी. INX मीडिया मामले में सीबीआई ने 15 मई 2017 को प्राथमिकी दर्ज की थी. इसके बाद ईडी ने पिछले साल इस संबंध में मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया था. जांच एजेंसियों का दावा है कि सन 2007 में जब चिदंबरम वित्त मंत्री थे तब उन्होंने पीटर मुखर्जी और इंद्राणी मुखर्जी की कंपनी INX मीडिया (INX Media) को मंज़ूरी दिलवाई. इसके बाद इस कंपनी में कथित रूप से 305 करोड़ का विदेशी निवेश आया जबकि अनुमति मात्र 5 करोड़ के निवेश की थी. यानी INX मीडिया में 300 करोड़ से अधिक का निवेश हुआ. कथित रूप से खुद को बचाने क...

'हमें गिरफ्तारी का डर है, हमारी याचिका सुन लीजिए' सुप्रीम कोर्ट में चिदंबरम के वकील

नई दिल्ली. INX media हेराफेरी के मामले में SC ने बुधवार को कांग्रेस के पूर्व वित्‍त मंत्री पी चिदंबरम की अग्रिम याचिका खारिज कर दी. चिदंबरम के वकीलों ने सुबह 10:30 बजे जस्टिस NV रमन्ना की बेंच से जल्‍द सुनवाई की मांग की , जस्टिस रमन्ना की बेंच ने याचिका पर सुनवाई से इनकार कर दिया और इस याचिका को चीफ जस्टिस रंजन गोगोई के पास भेज दिया.  चिंदबरम के वकील कपिल सिब्‍बल की ओर से न्‍यायालय से आग्रह किया गया कि उनकी अपील को जल्द सुन लिया जाए, लेकिन इसका सॉलिसिटर जनरल की तरफ से यह कहते हुए विरोध किया गया कि यह मामला गंभीर है. इस पर कपिल सिब्बल ने कहा कि हमें गिरफ्तारी का डर है. हमारी याचिका सुन लीजिए. इस पर सिब्बल ने कहा कि हमें दिल्‍ली हाईकोर्ट ने भी अपील का समय नहीं दिया है, लिहाजा, गिरफ्तारी से फिलहाल राहत मिले. चिदंबरम की तरफ से कहा गया कि वो राज्यसभा सदस्य है...

इमरान की पूर्व पत्नी बोली, इमरान ने मोदी के साथ मिलकर कश्मीर का सौदा किया

इमरान की पूर्व पत्नी बोली, इमरान ने मोदी के साथ मिलकर कश्मीर का सौदा किया नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर (#JammuKashmir) से आर्टिकल 370 (#Article370) के हटने के बाद पाक पीएम इमरान खान की परेशानियां समाप्त होने का नाम नहीं ले रही हैं. राज्य को दो केंद्रशासित प्रदेशों में बांटने के भारत सरकार के ऐतिहासिक फैसले से पाक पहले ही सदमे में है वहीं दुनियाभर में भारत के खिलाफ इस फैसले का इस्तेमाल करने की पाक की कोशिशें ना'पाक साबित हो रही हैं. इमरान खान नामक बम को फुस्स कर देने वाले भारत के इस कदम के बीच इमरान हर तरफ खुद को लाचार बता रहे हैं. अब एक और नया बम फोड़ा है उनकी ही पूर्व पत्नी रेहम खान ने. रेहम खान (#RehamKhan) ने भी अब इमरान खान के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. रेहम ने जम्मू-कश्मीर को लेकर एक बड़ा खुलासा करते हुए आरोप लगाए कि इमरान खान ने भारत के पीएम नरेंद्र मोदी (#PMNarendraModi) के साथ एक गोप...

ट्रेड वॉर के बीच सावधान! 11 साल बाद फिर बड़ी मंदी का खतरा

वाशिंगटन. मंदी की मार एक बार फिर परवान चढ़ सकती है. अमेरिका-चीन ट्रेड वॉर सुलझ न पाने से वैश्विक अर्थव्यवस्था को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. ब्रिटेन, जर्मनी, रूस, सिंगापुर और ब्राजील मंदी सहित दुनिया के 9 देश मंदी की चपेट में आने वाले हैं या आ चुके हैं. आर्थिक विश्लेषकों की माने तो यदि इसका समाधान नहीं निकाला गया और ट्रेड वॉर जारी रहा तो इससे साल 2021 तक अमेरिकी अर्थव्यवस्था फिर से मंदी की शिकार होगी. इतना ही नहीं पूरी दुनिया की इकोनॉमी को करीब 585 अरब डॉलर का चूना लग सकता है. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पिछले दिनों चीन के साथ ट्रेड वॉर खत्म करने की पहल कर चुके हैं और दोनों देश इस महीने के अंत तक फिर से वार्ता शुरू करने जा रहे हैं. लेकिन इस बारे में चर्चा होने लगी है कि वैश्विक मंदी अब करीब आ रही है और समय निकलता जा रहा है. नेशनल एसोसिएशन फॉर बिजनेस इकोनॉमिक्स के एक सर्व...

देश कर रहा है पूर्व पीएम स्व. राजीव गांधी को नमन्, जानिए उनके जीवन से जुड़ी 10 बड़ी बातें

नई दिल्ली. राजीव गांधी की 75वीं जयंती पर पूरे देश में आयोजन हो रहे हैं। पूरा देश एक ऐसे देशभक्त और दूरदर्शी व्यक्ति को याद कर रहा है जिनकी दूरदर्शी नीतियों ने भारत के निर्माण में मदद की। 40 की उम्र में देश के सबसे कम उम्र के प्रधानमंत्री बने राजीव गांधी आज भी युवाओं के लिए किसी बड़ी प्रेरणा से कम नहीं हैं राजीव गांधी का जन्म 20 अगस्त 1944 में मुंबई में हुआ। जब भारत को अंग्रेजी शासन की गुलामी से आजादी मिली तो उनकी उम्र महज तीन साल थी। देश आज़ाद हुआ और राजीव गांधी के नाना यानी जवाहर लाल नेहरू आजाद भारत के पहले प्रधानमंत्री बने। राजीव गांधी के पिता का नाम फिरोज गांधी और माता का नाम इंदिरा गांधी था। उनका बचपन दिल्ली के तीन मुर्ति भवन में बीता। राजीव गांधी के जीवन से जुड़ी दस बड़ी बातें- 1- राजीव गांधी का जन्म 20 अगस्त 1944 को मुंबई में हुआ। भारत की स्वतंत्रता के समय वह मात्र 3 वर्ष के थे...