उत्तराखंड की ग्लेशियर आपदा पर प्रधानमंत्री मोदी ने ली बैठक


नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उत्तराखंड में त्रासदी पर एक उच्च स्तरीय बैठक ली. बैठक में पूरे घटनाक्रम की समीक्षा की गई. और मौके पर वर्तमान हालातों के बारे में फीडबैक लिया. साथ ही पीड़ितों को तुरंत राहत देने, राहत और बचाव कार्य को और प्रभावी बनाने की रणनीति बनी. प्रधानमंत्री की बैठक के दौरान गृहमंत्री अमित शाह, भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के साथ उत्तराखंड के सांसद भी मौजूद रहे. उत्तराखंड की ग्लेशियर आपदा के लिए उठाए गए राहत के कदमों की समीक्षा भी की गई. 

बता दें कि रविवार को उत्तराखंड के चमोली जिले में ग्लेशियर फटने से अलकनंदा तथा धौलीगंगा नदियों में हिमस्खलन और बड़े पैमाने पर बाढ़ आ गई. जिसमें सौ से ज्यादा लोगों के बहने के साथ कई लोगों के मारे जाने की खबर है. तपोवन में एनटीपीसी की साइट से कई शव अभी तक बरामद किए जा चुके हैं और अन्य की तलाश जारी है. ऋषिगंगा पर बनी एक बिजली परियोजना को भी भारी नुकसान पहुंचा है. दोनों साइटों पर कई लोगों के फंसे होने की आशंका जताई जा रही है. 

उधर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने मौके पर हालातों का जायजा लिया और राहत एवं बचाव कार्यों में लगे कार्मिकों को भी सभी आवश्यक सामग्री समय पर उपलब्ध कराने के निर्देश दिए. वहीं जानकारी दी कि राहत एवं बचाव कार्यों के लिए एसडीआरएफ मद से 20 करोड़ रुपये की धनराशि जारी की गई है.


Courtesy: Navid Mamoon, Gabriel Rasskin & Covid Visualizer Team.