सावधान! कोरोना वायरस से भारत में हो सकती हैं 30,000 लोगों की मौत


नई दिल्ली. अन्य देशों की तरह भारत में भी कोरोना संक्रमण को लेकर हालात बिगड़ते जा रहे हैं. सरकार जिस लॉक डाउन के तहत लोगों को घर में रहने की अपील कर रही है यदि देश के लोगों ने इसकी गंभीरता से पालना नहीं की तो हो सकता है भारत में आने वाले दिनों में 30000 लोगों की मौत हो जाए.

द प्रिंट की एक रिपोर्ट की मानें तो भारत में कोरोना के पहले मामलों को 50 के आंकड़े पर पहुंचने में 40 दिन लगे, 100 के आंकड़े को छूने में और पांच दिन लगे, इसके तीन दिन के भीतर यह आंकड़ा 150 का हो गया और महज दो और दिनों में 200 का आंकड़ा पहुंच गया. अब इसके बाद इसका पहिया और तेजी से घूमने वाला है. पक्के मामलों की संख्या पांच या उससे भी कम दिनों में दोगुनी हो रही है, जबकि इस महीने के शुरू में ऐसा होने में छह दिन लग रहे थे. इस तरह भारत में भी इसकी रफ्तार दुनिया के दूसरे देशों में जो रफ्तार है उसके बराबर हो गई है, अमेरिका में मामले हर दो दिन पर दोगुनी रफ्तार से बढ़ रहे हैं.

भारत में जिस रफ्तार से इसके मामले बढ़ रहे हैं उसे और विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओ) के मुताबिक पक्के मामलों में मौत की 3.4 प्रतिशत की दर को देखते हुए भारत में मई के अंत तक इसके 10 लाख से ज्यादा पक्के मामले सामने आ सकते हैं और 30,000 से ज्यादा लोग मारे जा सकते हैं. ये मोटे अनुमान हैं. बायो-स्टैटीस्टीसियनों की एक टीम ने अनुमान लगाया है कि ये आंकड़े और ऊंचे भी हो सकते हैं और 10 लाख मामले 15 मई तक ही सामने आ सकते हैं.

इस मीडिया रिपोर्ट को हल्के में लेना ठीक नहीं होगा तथ्यों पर आधारित इस रिपोर्ट को माने तो भारत को तुरंत ठोस कदम उठाने होंगे. वरना फिर पछतावे के अलावा कुछ नहीं बचेगा.वहीं आम जनता को भी समझना पड़ेगा कि राज्य सरकार और केंद्र सरकार जो बार-बार अपील कर रही है वह ऐसे ही नहीं, कोरोना के संक्रमण की गंभीरता को देखते हुए कर रही है. देश में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है.

23 मार्च 2020 तक 490 से ज्यादा केस सामने आ चुके हैं. वहीं, इस महामारी से एक और मौत हो गई है, जिसके बाद देश में अब तक 10 लोगों की जान जा चुकी है. अकेले 24 घंटे में 100 से अधिक नए मरीज सामने आए हैं और 5 मौतें हुई हैं. दिल्ली, राजस्थान, बिहार, पंजाब, उत्तराखंड, छत्तीसगढ़, झारखंड, जम्मू-कश्मीर, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, नागालैंड, अरुणाचल प्रदेश में कोरोना वायरस की वजह से 31 मार्च तक लॉकडाउन है. इसके अलावा उत्तर प्रदेश के 16 जिलों को भी 25 मार्च तक लॉकडाउन किया गया है.

कोविड-19 वायरस के मामले में अलग-अलग राज्य अलग-अलग तरह से कार्रवाई करेंगे क्योंकि गरीब राज्यों में स्वास्थ्य सेवाओं का ढांचा बेहद कमजोर है. इन सब हालातों के बीच भारत में तुरंत स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार करना होगा और सबसे बड़ी बात है कि लोगों को घरों में ही रहना जरूरी है सरकार की गाइडलाइन की पालना करना ही सबसे बेहतर विकल्प है.

 

इन कामों के दौरान जरुर धोएं हाथ: 

1- भोजन करने से पहले व बाद में हाथ जरूर धोएं. यदि आप खाना बनाने जा रहे हों या किसी को सर्व कर रहें हो तो भी हाथ को जरूर धोएं.

2- किसी अन्य के या स्वयं के घाव की ड्रेसिंग करने से पहले व बाद में हाथ को जरूर धोएं.

3- यदि आपने किसी से हाथ मिलाया है या आप घर के बाहर से लौटे हैं तो उसके तुरंत बाद हाथ जरुर धोएं.

4- पालतू या आवारा जानवरों को यदि किसी भी सूरत में आपने छुआ है तो अच्छे से हाथ धोना बेहद जरुरी है क्योंकि ज्यादातर फ्लू का एक बडा कारण यही है.

5- नाक और मुंह पोछने के बाद हाथ धोएं, और पोछने से पहले भी हाथ साफ करें. क्योंकि नाक और मुंह के जरिए कीटाणु हमारे शरीर में प्रवेश कर सकते हैं.

6- जब भी आप डस्टबिन को छुएं या उसका इस्तेमाल करें तो उसके बाद हाथों को जरुर धोएं.

7- यदि आप टॉयलेट, शौच जा रहे हैं या वॉशरूम का इस्तेमाल कर रहे हैं तो बाद में हाथ अच्छे से धोएं. हाथ धोने में विशेष सावधानी बरतें.

8- जब भी दवा लेनी हो तो उससे पहले हाथ धोना आवश्यक है. वरना दवा संक्रमण का कारण बन सकती है.

9- छोटे बच्चे को गोद में लेने से पहले हाथ धोएं, क्योंकि बच्चों में संक्रमण जल्दी फैलता है.

10- छींकने के बाद हाथ धोना कतई ना भूलें.


Courtesy: Navid Mamoon, Gabriel Rasskin & Covid Visualizer Team.