केंद्र सरकार 18 वर्ष से अधिक आयु के युवाओं को भी फ्री वैक्सीन लगाए, वरना आक्रोश बढ़ेगा: अशोक गहलोत, CM


नई दिल्ली। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने केंद्र सरकार से 18 वर्ष से अधिक आयु के युवाओं को भी फ्री वैक्सीन लगाने की मांग की है। गहलोत ने कहा कि 'केन्द्र सरकार को 18 वर्ष से अधिक आयु के युवाओं को भी फ्री वैक्सीन लगाने की घोषणा करनी चाहिए। फ्री वैक्सीन ना मिलने पर युवाओं का केन्द्र सरकार के प्रति आक्रोश बढ़ेगा।'

उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी और राज्यों द्वारा लगातार मांग करने के बाद केन्द्र सरकार ने 18 वर्ष से अधिक आयु वाले लोगों के वैक्सीनेशन का फैसला किया है जिसका हम स्वागत करते हैं।

केन्द्र सरकार को 18 वर्ष से अधिक आयु के युवाओं को भी फ्री वैक्सीन लगाने की घोषणा करनी चाहिए। फ्री वैक्सीन ना मिलने पर युवाओं का केन्द्र सरकार के प्रति आक्रोश बढ़ेगा। राज्यों में सभी आयुवर्ग के लोगों को एक ही मशीनरी (मेडिकल स्टाफ) वैक्सीन लगाएगी। यह उचित नहीं होगा कि युवाओं से पैसे लिए जाएं और बाकी को निशुल्क वैक्सीन लगाई जाए। केन्द्र सरकार को 60 वर्ष, 45 वर्ष एवं अब 18 वर्ष अधिक आयु वर्ग के वैक्सीनेशन के लिए एक ही नीति अपनानी चाहिए।

अशोक गहलोत, CM

 

गहलोत ने कहा कि 'यह घातक कोरोना वायरस अब तेजी से फैल रहा है एवं संक्रमितों की मृत्यु दर भी अधिक है। ऐसे में केन्द्र सरकार को वैक्सीन की कीमत का भार युवाओं पर ना डालकर तेजी से निशुल्क वैक्सीनेशन करना चाहिए। कोविड के इस संकट में राज्यों पर अतिरिक्त भार पड़ने से आमजन को परेशानियां आएंगी एवं राज्यों में विकास कार्य भी प्रभावित होंगे। प्राइवेट सेक्टर को वैक्सीन लगाने की अनुमति देना स्वागतयोग्य कदम है। इससे सक्षम लोग वैक्सीन खरीद कर लगवा सकेंगे एवं सरकार पर भार भी कम होगा।'


Courtesy: Navid Mamoon, Gabriel Rasskin & Covid Visualizer Team.