भारतीयों को मिलेगी दुनिया मे कोरोना का खात्मा करने वाली सबसे मजबूत स्पुतनिक-V वैक्सीन, 97.6% तक देती है जबरदस्त परिणाम


नई दिल्ली। कोरोना से त्रस्त भारत के लिए एक राहत भरी खबर है। भारत को जो तीसरी वैक्सीन रूस की स्पुतनिक-V मिलनी वाली है, वो दुनिया की सबसे असरकारी या यों कहें सबसे ताकतवर वैक्सीन साबित हुई है. भारत की सेंट्रल ड्रग्स अथॉरिटी ने पिछले हफ्ते ही स्पुतनिक-V के इमरजेंसी यूज की मंजूरी दी है. और अब 38 लाख लोगों पर हुई एक स्टडी में सामने आया है कि कोरोना के खिलाफ स्पुतनिक-V की एफिकेसी 97.6% तक है. जो अन्य मौजूदा वैक्सीन की तुलना में सबसे बेहतरीन परिणाम देने वाली साबित हुई है।

रूसी वैक्सीन स्पुतनिक-V के लीड डेवलपर वैज्ञानिक डेनिस लोगुनोव ने बताया कि कोरोना के खिलाफ स्पुतनिक-V 97.6% तक प्रभावी साबित हुई है. 38 लाख लोग, जिन्हें इस वैक्सीन के दोनों डोज लग चुके हैं, उनके डेटाबेस से पता चलता है कि ये वैक्सीन कोरोना के खिलाफ 97.6% तक असरकारी है.

इससे पहले तक इस वैक्सीन की एफिकेसी 91.6% तक बताई गई थी. ये भी दुनिया की अन्य कोरोना वैक्सीन में सबसे ज्यादा थी. स्पुतनिक-V को रूस के गामालेया इंस्टीट्यूट ने रशियन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट फंड (RDIF) की फंडिंग से बनाया है.

भारत में स्पुतनिक-V ने हैदराबाद की डॉ. रेड्डी लैब्स के साथ मिलकर ट्रायल किया है और इसके प्रोडक्शन का काम भी डॉ. रेड्डी लैब्स ही कर रही है. भारत में अभी जो दो वैक्सीन इस्तेमाल हो रही हैं, उनसे भी ज्यादा एफिकेसी रेट स्पुतनिक-V का ही है.


Courtesy: Navid Mamoon, Gabriel Rasskin & Covid Visualizer Team.