कोरोना संकट में भारतीयों का दर्द समझा ऑस्ट्रेलियन क्रिकेटर्स ने, एक ने IPL छोड़ा तो दूसरे ने ऑक्सीजन के लिए की आर्थिक मदद


मुम्बई (अशोक खण्डूजा)। भारत में कोरोना के चलते फैली भयावहता और इस महामारी के प्रकोप को विदेशी क्रिकेटर समझ रहे हैं लेकिन खुद इंडियंस को नहीं समझ रहे हैं यही कारण है कि ऑस्ट्रेलिया और राजस्थान रॉयल्स के तेज गेंदबाज एंड्रयू टाई ने भारत में IPL बीच में ही छोड़ दिया और कहा कि 'मैं इस बात से हैरान हूं कि कोरोना की ऐसी भयावह स्थिति में IPL को जारी रखना किस हद तक सही है? कोरोना मरीज अस्पताल में बेड की सुविधा न होने पर संघर्ष करते हुए दम तोड़ दे रहे हैं, दूसरी तरफ फ्रेंचाइजी और कम्पनियां इतने पैसे कैसे खर्च कर रहीं हैं?'

उधर भारत के कई शहरों के अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी होने पर आईपीएल 2021 में कोलकाता नाइट राइडर्स की तरफ से खेल रहे ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज पैट कमिंस ने लगभग 37 लाख की मदद का ऐलान किया। उन्होंने जरूरतमंदों की मदद के लिए पीएम केयर्स फंड में 50 हजार डॉलर देने का फैसला करते हुए ट्विट कर लिखा कि, 'भारत एक ऐसा देश है जहां पिछले कुछ सालों से मुझे बहुत प्यार मिला है और यहां के लोग भी बहुत प्यारे और सपोर्टिंग हैं। मैं जानता हूं कि पिछले कुछ समय से इस देश में कोरोना वायरस की वजह से काफी दिक्कते पैदा हो गई हैं, जिसमें पूरे देश के अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी का होना शामिल है। ऐसे में एक खिलाड़ी होने के नाते, मैं पीएम केयर्स फंड में 50 हजार यूएस डॉलर(लगभग 37 लाख रुपये) सहायता राशि के रूप में देना चाहता हूं।'

बरहाल भारत में ऑस्ट्रेलियन क्रिकेटर्स द्वारा उठाए गए इस कदम की सराहना की जा रही है और आर्थिक मदद के लिए हाथ बढ़ाने के लिए इनकी सोशल मीडिया पर तारीफ करते भी लोग नहीं थक रहे। साथ ही सोशल मीडिया यूजर्स ने भारतीय क्रिकेटर और नेताओं को भी मदद करने की नसीहत दी है। और आईपीएल आयोजकों को भी कहा है कि वह भी इस तरह से देश की पीड़ा को समझें और आईपीएल छोड़कर देश में संकट इस घड़ी में मदद दें। क्योंकि जब विदेशी इस देश में आए इस संकट की भयावहता को समझ रहे हैं तो भारतीय इस बात को क्यों नहीं समझ रहे।


Courtesy: Navid Mamoon, Gabriel Rasskin & Covid Visualizer Team.