Edu. & Technology

10 माह बाद फिर खुलेंगे स्कूल लेकिन क्या स्टूडेंट्स, अभिभावकों, टीचर्स को यह 10 बड़ी बातें पता हैं?

जयपुर. कोरोना संकटकाल के बीच बंद पड़े स्कूल्स फिर खुलने जा रहे हैं. 10 महीने के लंबे इंतजार के बाद एक बार फिर 18 जनवरी से राजस्थान में स्कूल खुलने जा रहे हैं. लेकिन स्कूल खोलने के लिए क्या गाइडलाइंस हैं? बच्चों को किन बातों का ध्यान रखना है? अभिभावक और टीचर किस तरह से सतर्क रहेंगे? आइए जानते हैं वह 10 बड़ी बातें जो जानना जरूरी है. 10 बड़ी बातें: 1. सिर्फ 9वीं और 12वीं के बच्चों को माता-पिता की सहमति के बाद स्कूल आने की अनुमति होगी. बच्चों को स्कूल आने के लिए किसी भी तरह से बाध्य नहीं किया जा सकेगा. 2. क्लास 4-5 घंटे से अधिक नहीं चलेगी. छात्रों की संख्या ज्यादा होने के बाद दो पारियों में कक्षाएं चलानी होगी. या 50% स्टूडेंट्स के साथ क्लासेज चलेंगी. 3. स्कूलों की तरफ से कोई पिक-ड्रॉप फैसिलिटी नहीं दी जाती है तो छात्रों को खुद स्कूल पहुंचना होगा. 4. स्कूलों में हर फ्लोर ...

16 जनवरी से भारत में कोरोना के खात्मे की शुरुआत

जयपुर. 16 जनवरी 2021 से भारत में वैक्सीन लगने की शुरुआत होने जा रही है. सबसे पहले 3 करोड़ स्वास्थ्यकर्मियों और फ्रंटलाइन वर्कर्स को यह वैक्सीन दी जाएगी. इसके साथ ही 50 साल से अधिक और 50 साल के कम उम्र के को-मोरबिड लोगों को भी पहले वैक्सीनेशन में प्राथमिकता दी जाएगी.ऐसे लोगों की संख्या करीब 27 करोड़ के आस पास है.

18 जनवरी से खुलेंगे स्कूल, कॉलेज, कोचिंग सेंटर

जयपुर. राजस्थान में लंबे समय से बंद पड़े स्कूल, कॉलेज और कोचिंग संस्थानों को खोलने को लेकर राज्य सरकार ने अनुमति दे दी है. 18 जनवरी से स्कूल, कॉलेज एवं कोचिंग सेंटर खुलेंगे.मेडिकल, डेंटल, नर्सिंग एवं पैरामेडिकल कॉलेज 11 जनवरी से खुलेंगे. राजस्थान में शिक्षकों की ट्रांसफर लिस्ट इस लिंक पर होगी उपलब्ध, यहां क्लिक करें मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि देश और प्रदेश में कोविड-19 के नये स्ट्रेन के मामले सामने आना चिंता का विषय है. इसके प्रति किसी भी तरह की लापरवाही बड़ा संकट खड़ा कर सकती है. इसे देखते हुए इस वायरस से अत्यधिक प्रभावित इंग्लैण्ड सहित अन्य देशों से प्रदेश में आए यात्रियों पर विशेष नजर रखी जाए. इन यात्रियों का कोविड टेस्ट एवं सघन स्क्रीनिंग की जाए. मुख्यमंत्री ने कहा कि बेहतरीन प्रबंधन और प्रदेशवासियों के सहयोग से राजस्थान में कोरोना की स्थिति काफी नियंत्रण में है। रिकवरी...

राजस्थान में शिक्षकों की ट्रांसफर लिस्ट इन लिंक पर होगी उपलब्ध

जयपुर. राजस्थान में शिक्षकों के तबादले की कवायद तेज हो गई है. लेकिन सबसे बड़ी समस्या यह है कि आपके तबादले के बाद में संबंधित विभाग के हैं तो कहां से पता चलेगा कि आपका तबादला हुआ या नहीं हुआ? ऐसे में आप नीचे दिए गए अपने पद के आधार पर लिंक पर क्लिक करें और तुरंत अपनी तबादला लिस्ट को देखें. ट्रांसफर लिस्ट के लिए यहां क्लिक करें  इसके अतिरिक्त निम्न लिंक्स पर भी उपलब्ध होगी  प्रिंसिपल & HM ट्रांसफर लिस्ट के लिए यहां क्लिक करें. लेक्चरर ट्रांसफर लिस्ट के लिए यहां क्लिक करें सीनियर टीचर ट्रांसफर लिस्ट के लिए यहां क्लिक करें...

राजस्थान में REET परीक्षा में लेवल वन में केवल BSTC के स्टूडेंट्स ही होंगे शामिल

राजस्थान में REET परीक्षा में लेवल वन में केवल BSTC के स्टूडेंट्स ही होंगे शामिल जयपुर. राजस्थान में रीट परीक्षा को लेकर बड़ी खबर है. वर्ष 2021 में आयोजित होने वाली रीट परीक्षा के लेवल वन में अब केवल बीएसटीसी (BSTC) के स्टूडेंट्स ही शामिल हो पाएंगे. इस मामले में कुछ दिनों पहले ही बीएसटीसी पास हजारों स्टूडेंट्स ने बड़ा आंदोलन किया था. उसके बाद शिक्षा विभाग ने उच्च स्तर पर मंथन किया और यह निर्णय किया. राजस्थान के शिक्षा राज्यमंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह जानकारी दी. डोटासरा ने बताया कि इस बार विभिन्न वर्गों में छूट भी दी गयी है. इस बार 90 प्रतिशत रीट और 10 प्रतिशत स्नातक के नंबरों का फार्मूला लागू रहेगा. इसके अलावा रीट के सिलेबस में इस बार राजस्थान के सामान्य ज्ञान को भी शामिल किया जा रहा  है. रीट के आवेदन 11 जनवरी से 8 फरवरी तक लिये जा सकते हैं. &nbs...

कोरोना के न्यू स्ट्रेन पर भारत को मिली बड़ी कामयाबी, ऐसा करने वाला बना दुनिया का पहला देश

नई दिल्ली. कोरोना महामारी के नए स्ट्रेन को लेकर बड़ी खबर आई है. भारत ने ब्रिटेन से आए वायरस के नए स्ट्रेन की सफलतापूर्वक पहचान कर ली है. और इसी के साथ ऐसा करने वाला भारत दुनिया का पहला देश भी बन गया है. इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) ने ट्वीट कर बताया कि भारत ने तेजी से वायरल हो रहे न्यू स्ट्रेन के वायरल तनाव (SARS-CoV-2 के यूके-वैरिएंट) को सफलतापूर्वक पहचान लिया है. और भारत ने यूके म्यूटेंट स्ट्रेन को आइसोलेट कर लिया है. इस आइसोलेशन के जरिए बनाए गए कोरोना वायरस वैक्सीन पर न्यू म्यूटेंट स्ट्रेन के प्रभाव की जांच करने में मदद मिलेगी. साथ ही यह भी चेक किया जा सकेगा कि इस स्ट्रेन पर कोरोना वैक्सीन का असर होगा या नहीं....

कोरोना के खात्मे के लिए भारत में ऑक्सफोर्ड वैक्सीन 'कोविशील्ड' के इमरजेंसी इस्तेमाल को मंजूरी, औपचारिक ऐलान बाकी

नई दिल्ली. कोरोना के खात्मे के लिए दुनियाभर ने कमर कस ली है. इसी कड़ी में भारत भी लगातार प्रयासरत है. दुनिया की सबसे बड़ी वैक्सीन उत्पादक कंपनी सीरम इंस्टिट्यूट (Serum Institute Of India) की वैक्सीन कोविशील्ड (Covishield) को भारत में इमरजेंसी यूज की अनुमति दी मिल गई है.  हालांकि अभी इसका औपचारिक ऐलान बाकी है.  केंद्रीय औषध मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) की कोविड-19 पर एक विशेषज्ञ समिति ऑक्सफोर्ड के कोरोना वायरस रोधी टीके कोविशील्ड के आपात इस्तेमाल की मंजूरी देने के लिए सिफारिश करने की तैयारी में है. ब्रिटेन में इस वैक्सीन को इमरजेंसी यूज की अनुमति मिलने के बाद माना जा रहा था कि भारत में भी इसकी अनुमति दी जा सकती है. सीरम इंस्टिट्यूट ऑक्सफोर्ड की वैक्सीन में पार्टनर है और देश में इसे वैक्सीन को कोविशील्ड के नाम से बेचेगी....

10वीं व 12वीं के लिए CBSE बोर्ड परीक्षा 4 मई 2021 से

नई दिल्ली. 10वीं व 12वीं के लिए सीबीएसई बोर्ड परीक्षा 4 मई 2021 से शुरू होगी। ये परीक्षाएं 10 जून 2021 तक पूरी की जाएंगी। परिणाम की घोषणा 15 जुलाई 2021 तक की जाएगी। प्रैक्टिकल परीक्षाएं 1 मार्च 2021 से शुरू की जाएंगी। केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक (Education Minister Nishank) ने अपने ट्विटर हैंडल पर सीबीएसई बोर्ड परीक्षाओं की तारीख घोषित की है।...

राजस्थान में 31,000 शिक्षकों की होगी, REET परीक्षा की तारीख घोषित

जयपुर.राजस्थान सरकार ने रीट परीक्षा की तिथि की घोषणा कर दी है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शुक्रवार को अपनी सरकार के दो साल पूरे होने के मौके पर परीक्षा की तारीखों का ऐलान किया. गहलोत ने घोषणा करते हुए कहा कि रीट की परीक्षा 25 अप्रैल 2021 को आयोजित होगी. रीट परीक्षा के जरिए राज्य में 31000 शिक्षकों की भर्ती होगी. बहुत जल्द रीट का नोटिफिकेशन जारी कर दिया जाएगा. उधर राजस्थान के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने भी मुख्यमंत्री की इस घोषणा की ट्विटर के जरिए जानकारी दी....

ISRO: टेलीकम्युनिकेशन सेवाओं में सुधार होगा, कम्युनिकेशन सैटेलाइट CMS-01 ऑर्बिट में सफलतापूर्वक इंजेक्ट

चेन्नई. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने देश की 42वीं कम्युनिकेशन सैटेलाइट CMS-01 को गुरुवार को सफलतापूर्वक लॉन्च किया. कम्युनिकेशन सैटेलाइट CMS-01 की उम्र करीब सात साल होगी. यह कम्युनिकेशन सैटेलाइट फ्रीक्वेंसी स्पेक्ट्रम के एक्सटेंडेड सी बैंड में सेवा उपलब्ध कराएगा, जिसके दायरे में भारत की मुख्य भूमि, अंडमान निकोबार और लक्षद्वीप द्वीपसमूह होंगे. बता दें कि इससे टेलीकम्युनिकेशन सेवाओं में खासतौर पर सुधार होगा. इसकी मदद से टीवी चैनलों की पिक्चर गुणवत्ता सुधरने के साथ ही सरकार को टेली-एजुकेशन, टेली-मेडिसिन को आगे बढ़ाने और आपदा प्रबंधन के दौरान मदद मिलेगी.  ...